ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल-दो बच्चियों की हत्या कर कर्ज से परेशान युवक ने फांसी लगाई                बारामुला- कश्मीर में मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर                भोपाल-न्यू मार्केट में रिटायर्ड आईजी मराठे से झूमा झटकी, मोबाईल फोन तोडा                भोपाल- छेड़छाड़ का विरोध करने पर मनचलो ने युवती को पीटा                भोपाल- फोन पर युवती ने पूछा ओटीपी और निकाल लिए 15 हजार रु                आस्ट्रेलिया में 102 साल की महिला ने 14 हजार फुट से छलांग लगा कर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया                नागपुर में जंगल में ध्यान लगाए बौद्ध भिक्षु पर तेंदुए ने किया हमला,मौत                भोपाल-महिलाओँ को वाट्सअप पर अश्लील मैसेज भेजने वाला पुजारी गिरफ्तार                भोपाल- जाहिदा परवेज के सूने मकान से सात लाख की जेवर चोरी                भोपाल- रॉन्ग साइड से आ रही एसयूवी ने बाइक सवार को मारी टक्कर,युवक गंभीर                भोपाल-युवक ने बीपी लो होने पर एकसाथ खाई पांच गोलियाँ,मौत                भोपाल-अकेली जा रही दसवीं की छात्रा से सरेराह छेड़छाड़                 श्रीनगर- आतंकियों ने कश्मीरी पंडितो की बस्ती के बाहर तैनात चार पुलिस वालो को मार डाला                  
जो जमात में एक बार घुसा, उसके वारे न्यारे हो गए
भोपाल-(saifuddin saify)दाऊदी बोहरा समाज में जो जमात कमेटियां बनती है उसकी सिफारिश समाज के आमिले वक़त द्वारा मुंबई स्थित धर्मगुरु के ऑफिस में भेजी जाती है.और वहां से मंजूरी मिलने के बाद जमात कमेटी बनती है.एक बार जो इस कमेटी में आ गया उसकी समझो बल्ले बल्ले हो गई. गौरतलब है जमात कमेटी में सचिव या मेंबरान बनने के लिए कोई योग्यता या पैमाना निर्धारित नहीं है. हाँ एक पैमाना है उसके लिए आमिले वक़त का चमचा होना और उनके परिवार के सदस्यों की हर जायज और नाजायज मांगे पूरी करना.आमिल साहब के शरीके हयात जिन्हे बहन साहिबा बोला जाता है उनकी तफरी.उनके बच्चों को धार्मिक कार्यक्रमों में लाने ले जाने की कुव्वत अगर किसी में होती है तो उससे जमात कमेटी में शामिल कर लिया जाता है.और इसी तरह के लोग करोंद स्थित बोहरा समाज की कालोनी बुरहानी नगर जमात कमेटी में है. इसमें कुछ ऐसे मेंबरान है जो कल तक पटियों पर बैठ कर धर्मगुरु के फरमानों और उनकी शिक्षाओं का मजाक बनाते थे,तरह तरह की बात कर के जमात और आमिल का मजाक उड़ाते थे,आज वे ही लोग जमात में सचिव और मेंबरान बन कर आमिल की चमचागिरी करके लाखो में खेल रहे है. बुरहानी नगर जमात में अभी शामिल एक मेंबर जो शिक्षा विभाग में नौकरी करता है, कल तक यही मेंबर समाज के रमजान-मोहर्रम के किसी कार्यक्रम में नहीं आता था और आज जमात के सचिव और आमिल का सबसे बड़ा चमचा बना हुआ है.(खबरें अभी और भी है.(पढ़ते रहे लोकजंग.देखे www.lokjung .com )
Advertisment
 
प्रधान संपादक संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी चरनजीत सिंह गुलाटी राकेश शर्मा पूजा शर्मा
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com