ब्रेकिंग न्यूज़ मप्र / हनी ट्रैप: महिलाओं ने विधायक को भी ब्लैकमेल किया, पूर्व सांसद ने परेशान होकर खुदकुशी की कोशिश की थी                नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया से आगे सड़क पर होना : सोनिया गांधी                भोपाल। प्रो॰ अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त।                भोपाल। कमलनाथ के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है भाजपा : पूर्व राज्यपाल कुरैशी।                  
पहले सब्सिडी छोड़ी अब वापस मांग रहे है

मार्च 2015 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने  देश में मध्यम वर्ग के  से अपील की थी, कि वह गरीब तबके तक गैस सिलेंडर पहुंचाने के लिए अपनी-अपनी सब्सिडी 'गिव इट अप' प्रोग्राम के तहत छोड़ दें. प्रधानमंत्री की अपील के बाद एक साल के अंदर देशभर में लगभग एक करोड़ लोगों ने सब्सिडी छोड़ दी थी। मगर अब अंतरराष्ट्रीय बाज़ार मे कच्चे तेल के बढ़ते दामो के कारण बिना  सब्सिडी वाला गैस सिलेन्डर की कीमतों मे अब तेज़ी से बढोती होने के कारण जिन लोगो ने “ गिव इट अप’ प्रोग्राम के तहत गैस सब्सिडी छोड़ी थी अब वो अपने निर्णय पर पश्चाताप करते हुए उससे वापिस लेने की कोशिश कर रहे है।

पेट्रोलियम मंत्रालय के अनुसार 1 लाख 12 हजार 655 लोगों ने गिव इट अप को गलती मानते हुए अपनी सब्सिडी वापस ले ली है। इसमे सब से चौकाने वाली बात ये है की सब्सिडी  वापस लेने वाले राज्यो मे सब से अधिक महाराष्ट्र के लोग शामिल है।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com