ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
धरने पर बैठे दृष्टिहीनों पर पुलिस का कहर

 भोपाल-नीलम पार्क पर अपनी मांगो को लेकर पिछले 44 दिनों से धरने पर बैठे दृष्टिहीनों पर मंगलवार को पुलिस ने ऐसी बर्बरता दिखाई की इंसानियत शर्मसार हो गयी. पहले पुलिस ने उन्हें नीलम पार्क में कैद कर गेट पर ताला लगा दिया. करीब ढाई घंटे तक बेचारे दृष्टिहीन पार्क में कैद रहे,जब उनके सब्र का बाँध टूट गया तो वे ताला तोड़ कर सड़क पर आ गए.जब वे मुख्यमंत्री निवास की ओर जाने लगे तो पुलिस ने उन्हें पार्क के गेट के सामने से ही हिरासत में ले लिया.और जबरदस्ती पकड़ पकड़ कर पुलिस वाहनों में ठूंसना शुरू कर दिया.पुलिस की अचानक कार्यवाही से वे घबरा गए और खिड़कियों की कांच पर हाथ मारने लगे जिससे कई आंदोलनकारियों के हाथो में चोट आ गयी.आंदोलनकारियों का आरोप है की पार्क से लेकर गाँधी नगर थाने तक  पुलिस उन्हें लाठियों से पीटती रही.एक ही वाहन में उन्हें जानवरो की तरह से ठूँस दिया गया.पुलिस ने 14 आंदोलनकारियों पर कार्यवाही की. इनमे से ९ दृष्टिबाधितों को जेल भेज दिया और पांच को मौके पर जमानत दे दी गयी.

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com