ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया से आगे सड़क पर होना : सोनिया गांधी                भोपाल। प्रो॰ अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त।                भोपाल। कमलनाथ के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है भाजपा : पूर्व राज्यपाल कुरैशी।                विदिशा। मत भरो बिजली के बिल, वे लाइन काटेंगे, हम जोड़ देंगे : शिवराज सिंह चौहान                मध्य प्रदेश / 20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त                अहमदाबाद। मुझे विश्वास है लोगों की जान बचाने के लिए सभी राज्य केंद्र का एक्ट लागू करेंगे : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी                नई दिल्ली - जो भारत विरोधी गतिविधियों में लगे हुए हैं, उन्हें इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह                  
धरने पर बैठे दृष्टिहीनों पर पुलिस का कहर

 भोपाल-नीलम पार्क पर अपनी मांगो को लेकर पिछले 44 दिनों से धरने पर बैठे दृष्टिहीनों पर मंगलवार को पुलिस ने ऐसी बर्बरता दिखाई की इंसानियत शर्मसार हो गयी. पहले पुलिस ने उन्हें नीलम पार्क में कैद कर गेट पर ताला लगा दिया. करीब ढाई घंटे तक बेचारे दृष्टिहीन पार्क में कैद रहे,जब उनके सब्र का बाँध टूट गया तो वे ताला तोड़ कर सड़क पर आ गए.जब वे मुख्यमंत्री निवास की ओर जाने लगे तो पुलिस ने उन्हें पार्क के गेट के सामने से ही हिरासत में ले लिया.और जबरदस्ती पकड़ पकड़ कर पुलिस वाहनों में ठूंसना शुरू कर दिया.पुलिस की अचानक कार्यवाही से वे घबरा गए और खिड़कियों की कांच पर हाथ मारने लगे जिससे कई आंदोलनकारियों के हाथो में चोट आ गयी.आंदोलनकारियों का आरोप है की पार्क से लेकर गाँधी नगर थाने तक  पुलिस उन्हें लाठियों से पीटती रही.एक ही वाहन में उन्हें जानवरो की तरह से ठूँस दिया गया.पुलिस ने 14 आंदोलनकारियों पर कार्यवाही की. इनमे से ९ दृष्टिबाधितों को जेल भेज दिया और पांच को मौके पर जमानत दे दी गयी.

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com