ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
35 घंटे बाद रस्सी को पकड़ बोर से बाहर आया रोशन

देवास- चार साल का रोशन शनिवार को सुबह ग्यारह बजे खुले बोर के गड्ढे में गिर गया था.बचने की कोई उम्मीद नहीं थी लेकिन 'जाको राखे साइयाँ मार सके न कोई'वाली कहावत को चरितार्थ करते हुए पूरे 35  घंटो बाद रोशन सकुशल बाहर आ गया.लेकिन मासूम को निकालने के लिए पुलिस,प्रशासन और सेना ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया.दो दिनों तक लगातार बोर के समानांतर खुदाई होती रही. चट्टानों की वजह से खुदाई में काफी परेशानी आ ही थी  इधर बच्चे की जिंदगी की चिंता बढ़ती जा रही थी.उसे जिन्दा रखने के लिए पाइप से दूध और जूस दिया जाता रहा.जब कोई रास्ता नहीं बचा तो बोर में रस्सी डाली गई.रोशन से कहा गया कि चूड़ी की तरह फंदे को पहन ले. मासूम रोशन ने सारी बातो को माना और रविवार को रात 10 : 30 पर सकुशल बोर से बाहर आ गया.

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com