ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
पांढुर्ना में लगे गोटमार मेले में एक की मौत 500 घायल

सोमवार को मध्यप्रदेश के पांढुर्ना में कई सालों से चली आ रही एक खतरनाक परंपरा  में शामिल एक युवक की  पेट में पत्थर लगने से मौत हो गई। पांढुर्णा के ही बाबूराव कंलबे और मनोज रेवतकर पत्थरों से गंभीर रूप से घायल हुए हैं। उन्हें उपचार के लिए नागपुर रेफर किया गया है। आपसी पत्थरबाजी में पांढुर्णा व सांवरगांव पक्ष के लगभग 500  से अधिक लोग घायल हो गए, जिनका उपचार चिकित्सा शिविरों में किया जा रहा है।इस परंपरा का नाम है गोटमार, जिसमें दो गांव के लोग एक दूसरे पर पत्थर बरसाते हैं। गोटमार खेल की परंपरा निभाने के लिए पोला पर्व के दूसरे दिन जाम नदी के तट पर दो गांव के लोग एक दूसरे पर पत्थर बरसाएंगे। ये एक जान लेवा परंपरा है जिसमें अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है। इस परंपरा के चलते कई लोग बुरी तरह घायल भी हो चुके हैं जिनमें कई लोगों की आखें फूट चुकी हैं। इस के बाद भी ये परंपरा लगातार जारी  है। इस बार भी प्रशासन ने मेला परिसर में घायलों के लिए चार अस्थाई अस्पताल बनाएं हैं। ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर अशांक भगत ने बताया कि 20-20 सदस्यों की पांच टीमें बनाकर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध होती रहेंगी। चारों अस्थाई अस्पतालों में चार टीमें और एक रिजर्व टीम रहेगी। इसके अलावा 12 चिकित्सा विशेषज्ञों की टीम सिविल अस्पताल में तैनात रहेगी। जरूरी उपचार के लिए 12 एम्बुलेंस लगाई गई हैं। इसमें आठ छोटी और चार बड़ी एम्बुलेंस घायलों के उपचार में मदद करेगीं.

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com