ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
71 साल के हॉस्टल संचालक पर दो मूक बघिर युवतियों और चार युवको ने शारीरिक शोषण का आरोप लगाया

भोपाल-भोपाल-बैरागढ़ कलां स्थित मूक बघीरो के हॉस्टल के बच्चो ने हॉस्टल संचालक पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है.  बच्चों ने साइन लेंग्वेज में सामाजिक न्याय विभाग के अधिकारियों को पूरी बात बताई। पीड़ित छात्र-छात्राओं का कहना है कि हॉस्टल संचालक एमपी अवस्थी उनसे अक्सर संबंध बनाता था। मना करने पर भविष्य बरबाद करने की घमकी देता था।  2 मूक-बधिर लड़कियां और 4 लड़के सामाजिक न्याय विभाग पहुंचे और उन्होंने आश्रम संचालक पर लम्बे समय से दुष्कर्म और शारीरिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। छात्राओं ने हॉस्टल संचालक एमपी अवस्थी पर जहां दुष्कर्म के आरोप लगाए वहीं लड़कों ने लम्बे समय से शारीरिक प्रताड़ना और अप्राकृतिक कृत्य के आरोप लगाए। इस मामले की साल 2017 में होशंगाबाद में रिपोर्ट भी हो चुकी है, लेकिन संचालक के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई।  हॉस्टल में कितनी छात्राओं से दुष्कर्म और छात्रों से अप्राकृतिक कृत्य हुआ ये जांच की विषय है।  इतना तय है कि आरोपी के हॉस्टल में 100 के करीब छात्र-छात्राएं रहते थे। हॉस्टल संचालक एमपी अवस्थी लंबे समय से छात्र-छात्राओं का शोषण कर रहा था। पूरे मामले पर हॉस्टल संचालक एमपी अवस्थी का कहना है कि सभी आरोप झूठे हैं। पुलिस ने अवस्थी को हिरासत में ले लिया है.

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com