ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया से आगे सड़क पर होना : सोनिया गांधी                भोपाल। प्रो॰ अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त।                भोपाल। कमलनाथ के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है भाजपा : पूर्व राज्यपाल कुरैशी।                विदिशा। मत भरो बिजली के बिल, वे लाइन काटेंगे, हम जोड़ देंगे : शिवराज सिंह चौहान                मध्य प्रदेश / 20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त                अहमदाबाद। मुझे विश्वास है लोगों की जान बचाने के लिए सभी राज्य केंद्र का एक्ट लागू करेंगे : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी                नई दिल्ली - जो भारत विरोधी गतिविधियों में लगे हुए हैं, उन्हें इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह                  
जानलेवा धंधा :लखनऊ में खून में मिलावट करने वाला गिरोह पकड़ाया

लखनऊ-खाने पीने के चीजों में मिलावट की बात तो खूब सुनी होगी लेकिन अब जो नया मामला सामने आया है सुन कर होश उड़ जायेंगे. यूपी की राजधानी लखनऊ में खून में मिलावट करने के गोरखधंधे का पर्दाफाश हुआ है। शिकायत पर एसटीएफ ने खून की इस कालाबाजारी की घटना को कई दिनों तक करीब से देखा फिर छापा मार गिरोह के सात लोगों को गिरफ्तार किया है। एसटीएफ के मुताबिक खून में सेलाइन वाटर की मिलावट के जरिये उसे दोगुना करके अवैध ब्लड बैंक चलाने वाले एक गिरोह के लखनऊ में सक्रिय होने की सूचना पर एसटीएफ ने खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम के साथ लखनऊ के फैजुल्लागंज इलाके स्थित एक मकान पर छापा मारा। मौके से राशिद अली, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, नसीम, पंकज कुमार त्रिपाठी और हनी निगम नामक व्यक्तियों को पकड़ा गया। पूछताछ में पता चला कि वे सीतापुर मार्ग स्थित मक्कागंज में भी अवैध ब्लड बैंक चलाते हैं। उनकी निशानदेही पर निशातगंज में भी एक स्थान पर छापा मारकर भारी मात्रा में अवैध सामान बरामद किया गया। पुलिस एवं जनता को झांसा देने के लिए बदल-बदल कर कई जगहों पर अवैध ब्लड बैंक चलाते थे।मुख्य अभियुक्त नसीम ने बताया कि वह अपने घर पर ही कुछ पेशेवर रक्तदाताओं, जिनमें नशा करने वाले लोग शामिल हैं, को कुछ पैसों का लालच देकर उनका खून निकालता था और उसमें सेलाइन वाटर मिलाकर एक यूनिट से दो यूनिट खून बना लेता था। उसे वह दो से तीन हजार रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बेच देता था। वह शहर के नामी ब्लड बैंकों के फर्जी लेबल और फार्म तैयार करता था। अभियुक्तों के कब्जे से 35 ब्लड बैग, 11 सीपीपी प्लेटलेट बैग, 30 एचआईवी किट, जाली ब्लड बैग के 11 हजार लेबल और चार जाली स्टाम्प पेपर इत्यादि चीजें बरामद की गयी हैं।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com