ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। प्रधानमंत्री इमरान खान बब्वर शेर है : नवजोत सिंह सिद्धू।                भोपाल। अयोध्या मामले के फैसले के बाद दिग्विजय के टवीट पर बड़ा विवाद।                शाहजहानाबाद। चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया।                मप्र / राज्य सरकार ने वैट 5% बढ़ाया, भोपाल में आज से पेट्रोल 2.91 रु. और इंदौर में 3.26 रुपए महंगा                इंदौर। मैं किसी श्वेता को नहीं पहचानता, सबके नाम उजागर होने चाहिए : पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह                  
क्या यही है शिवराज मामा का सुशासन मॉडल ?- प्रियंका चतुर्वेदी

प्रियंका

 भोपाल- सोमवार को भारतीय कांग्रेस कमेटी की मीडिया कन्वेनर एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीमती प्रियंका चतुर्वेदी ने पत्रकार वार्ता में आरटीआई कार्यकर्ता मनोज त्रिपाठी की मौत पर सवाल उठाते हुए कहा कि उनकी मौत जिन परिस्थितियों में हुई है वो संदिग्ध है.उनकी हत्या हुई है और शक कि सुई पूरी तरह से भाजपा विधायक और प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा के ऊपर है. क्योकि मनोज त्रिपाठी ने चुनाव आयोग में रामेशवर शर्मा के खिलाफ अवैध कब्जे को लेकर शिकायत की थी. यहाँ तक कि पुलिस भी मामले को दबाने में लगी हुई है और मनोज की मौत को दूसरे ही एंगल से देख रही है. पुलिस का कहना है कि मनोज ने शराब पी रखी थी और पत्नी से झगड़ते हुए वे छत से नीचे गिर गए.जब लोकजंग ने प्रियंका से पूछा कि क्या सत्ता में आने पर कांग्रेस मामले की जांच सीबीआई से कराए गई . तो प्रियंका ने आश्वासन देते हुए कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो मामले की पूरी निष्पक्ष जांच कराई जायेगी और अपराधी को सजा मिलेगी.ये वही रामेशवर शर्मा है जिन्होंने कहा था कि अपनी मौत से ज्यादा मुझसे डरो....और ये भी कि कांग्रेस नेता रावण की औलादे है और असली किसान कभी नहीं मरता है....जो मरते है वे लोभी है वे पैसे के लालच में आत्महत्या करते है.     प्रियंका ने भाजपा के राज में महिलाओं और बच्चियों को भी असुरक्षित बताया और कहा कि खुद भाजपा और संघ से जुड़े लोग ही इनका शोषण कर रहे है.भाजपा खुद को महिलाओं और बच्चियों का हितैषी बताती है, खुद मुख्यमंत्री शिवराज अपने को मामा कहते है, लेकिन अपनी बहनो और भांजियों की सुरक्षा करने में वे पूरी तरह से नाकाम है. नतीजन आज एमपी महिला उत्पीड़न के मामले में पूरे देश में अव्वल है. विदिशा में एक 22 साल की युवती ने संघ कार्यकर्त्ता डॉ.पीयूष सक्सेना के खिलाफ यौन शोषण का प्रकरण दर्ज कराया है. पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आठ साल से पियूष उसका दैहिक शोषण कर रहा है. यानि चौदह साल की उम्र से पीड़िता का शोषण किया जा रहा था. पाक्सो एक्ट लगने के बाद भी इस व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं हो रही है. ठीक उसी तरह जैसे यूपी में इनके विधायक पर पाक्सो एक्ट लगने के बाद भी गिरफ्तारी नहीं हुई. कारण साफ है इन्हे सरकार का सपोर्ट जो मिल रहा है.खुद भाजपा के नेता महिलाओं पर अपमान जनक बयान देते है. 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com