ब्रेकिंग न्यूज़ ग्वालियर। यूनियन बैंक मे खाते से 60 लाख की ठगी,कोर्ट के निर्देश पर एफआईआर।                जबलपुर। बालक से दुष्कृत्य करने वाले को 10 साल सश्रम कारावास।                भोपाल। सिंधिया के ब्यान पर सज्जन सिंह बोले- सीएम, मंत्री और ब्यूरोक्रेसी अलग-अलग।                नई दिल्ली। एसबीआई के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन पर चार्ज खत्म।                अहमदाबाद। एडीसी बैंक मानहानि केस मे राहुल गांधी को मिली जमानत।                इंदौर। रेलवे मे रद्द टिकटों से कमाए 1.536 करोड़ रू॰।                  
(लोकायुक्त पुलिस की कार्यवाही) सहायक आयुक्त तीन दिन की रिमांड पर, लॉकर से मिले तेरह लाख के जेवर

इंदौर. लोकायुक्त पुलिस इंदौर ने जनजाति कार्य विभाग खरगोन की सहायक आयुक्त शकुंतला डामोर को इंदौर के पास रिश्वत के 1.60 लाख रुपए के साथ गिरफ्तार किया। वे खरगोन में किसी से रिश्वत लेने के बाद कार से इंदौर आ रही थीं।  मुखबिर से मिली सूचना के बाद  लोकायुक्त पुलिस इंदौर हरकत में आई, तभी यह भी पता चला कि वह रिश्वत की राशि लेकर कार में इंदौर की ओर आ रही हैं। इसकी सूचना पुलिस को भी दी गई। इंदौर के नजदीक मानपुर टोल नाके के पास महू से लगे किशनगंज थाना प्रभारी ने चार पहिया वाहनों की चैकिंग शुरू की।गुरुवार शाम जैसे ही सहायक आयुक्त डामोर की कार वहां पहुंची किशनगंज टीआई ने उनकी गाड़ी की तलाशी ली तो डामोर के बैग में से एक लाख 60 हजार रुपए रखे मिले। पूछताछ में वे यह नहीं बता सकीं कि उनके पास यह  पैसे कहां से आए थे। बाद में पुलिस ने लोकायुक्त पुलिस को सूचित किया। गुरुवार शाम जैसे ही सहायक आयुक्त डामोर की कार वहां पहुंची किशनगंज टीआई ने उनकी गाड़ी की तलाशी ली तो डामोर के बैग में से एक लाख 60 हजार रुपए रखे मिले। पूछताछ में वे यह नहीं बता सकीं कि उनके पास यह  पैसे कहां से आए थे। बाद में पुलिस ने लोकायुक्त पुलिस को सूचित किया।तलाशी के दौरान उनके लॉकर से 13  लाख के जेवर मिले है.उन्हें तीन दिन की रिमांड पर रखा गया है. सहायक आयुक्त डामोर के पति शासकीय बालक उमा विद्यालय सैलाना में व्याख्याता है, जबकि एक बेटा डॉ. विजेंद्र डामोर रतलाम मेडिकल कॉलेज में पदस्थ है। दूसरा बेटा जयंत उज्जैन में सब इंस्पेक्टर हैं। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com