ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल डीजल के नाम पर नगर निगम आधिकारियों ने ने नौ माह मे लगाई दो करोड की चपत                 भोपाल-एक ही स्टूल पर खड़े होकर प्रेमी युगल ने फांसी लगाईं                भोपाल-10 नं मार्केट में कारोबारी ने दिनदहाड़े व्यापारी पर गोली चलाई                भोपाल में 35 सालो बाद गुरुवार की रात को तेज ठंड                मुंबई-फिल्म अभिनेता कादर खान की हालत नाजुक                भोपाल-पचमढ़ी से भी ठंडा रहा भोपाल                मुंबई की ईमारत में लगी आग में पांच की मौत                कोलकोता मेट्रो में धुंआ से कई यात्री बीमार पड़े                बालाघाट में पेड़ में फंदा लगाकर किसान ने जान दी                खंडवा में डीएसपी ने नशे में धुत्त होकर उत्पात मचाया                खंडवा- नवजात की उंगली ज्यादा थी तो घरवालों ने ही काट दी,मौत                रीवा - संदिग्ध हत्यारे ने तीन घंटे तक कट्टा लेकर पुलिस को धमकाया,गोली चला दूंगा                सागर- जमीन विवाद के चलते एक ही परिवार के तीन लोगो ने लगाईं फांसी ,दो ने खाया जहर                नई दिल्ली- नए आतंकी ग्रुप का खुलासा -मौलवी और इंजीनियरिंग के छात्र समेत दस गिरफ्तार                धार-बिजली कंपनी का एई 40 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार                इंदौर-शराबी मौसा ससुर को घर आने से रोका तो बेटी ने भाभी के मुंह पर फेका तेज़ाब                  
खट्टी मीठी यादो के साथ अलविदा 2018

            आज साल की आखिरी शाम है. कुछ खट्टी मीठी यादो के साथ 2018  भी बीत गया. सालभर ईवीएम, महंगाई, बेरोजगारी, एससी-एसटी एक्ट, राममंदिर, सीबीआई और आरबीआई विवाद, किसान आन्दोलन तथा महिलाओं के प्रति अपराधों जैसे मुद्दे छाये रहे.  राजनीतिक दृष्टि से यह साल बहुत महत्वपूर्ण रहा .वर्ष के आखिरी महीने में हुए लोकसभा चुनाव ने राजनीति के सारे समीकरण बदल दिए.साल भाजपा पर भारी रहा, जिसे सपने में भी उम्मीद नहीं थी कि तीन हिंदी भाषी प्रदेशो से उसका सूपड़ा साफ़ हो जायेगा.वही कांग्रेस के लिए ये साल वाकई संजीवनी साबित हुआ. टूटती सांसे भरती कांग्रेस को एक बार फिर जनता ने सिर आँखों पर बैठाया. इसी साल सुप्रीम कोर्ट के भी कई ऐसे महत्वपूर्ण फैसले आए, जो साल की प्रमुख सुर्खियां बने.   6 सितम्बर को समलैंगिकता पर अपने फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने धारा 377 को रद्द करते हुए कहा कि समलैंगिकता अपराध नहीं है। इसी तरह विवाह के बाद अवैध संबंधों पर सुनाए गए महत्वपूर्ण फैसले में एडल्ट्री संबंधी कानून की धारा 497 को खारिज करते हुए एडल्ट्री को अपराध मानने से अदालत ने इनकार कर दिया .कई प्रदेशो में किसानो को अपना हक़ मिला और उन्हें कर्ज माफ़ी दे गई. सालभर में कई बड़े हादसे भी हुए, दशहरे के अवसर पर अमृतसर में हुए भयानक रेल हादसे ने जनमानस को झकझोर दिया.मी-टू अभियान की तो ऐसी आंधी चली विभिन्न क्षेत्रों के कई दिग्गजों को उड़ा ले गई .घाटी में आतंकी और पत्थरबाज खूनी खेल खेलते रहे तो राज्यपाल शासन के दौर में आतंकियों के सफाये का व्यापक अभियान भी चलता रहा, खेल जगत में कुछ नई प्रतिभाएं उभरकर सामने आई ,तो कुछ बड़ी हस्तियां सदैव के लिए हमारा साथ छोड़ चिरनिद्रा में लीन हो गई।इस साल को शादी का साल कहा जाये तो अतिशियोक्ति नहीं होगी , जिसमे ईशा अंबानी,दीपिका और रणवीर,प्रियंका चोपड़ा और निक जोंस,सोनम कपूर और आनंद आहूजा की शादी काफी चर्चित रही .इसके साथ ही इसी साल कई साहित्यक  और राजनैतिक जगत की हस्तियां हमेशा के लिए हमसे जुदा हो गयी.जिसमे अभिनेत्री श्रीदेवी ,रीता भादुड़ी,कवि गोपाल दास नीरज,पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई,एम् करुणा निधि जैसी हस्तियों को कभी नहीं भुलाया जा सकता है. 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com