ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
हमीदिया मे मरीजो के साथ डॉक्टरो द्वारा फिर लापरवाही।

भोपाल।(सुलेखा सिंगोरिया) जैसे की पहले भी देखा और सुना जा चुका है कि हमीदिया अस्पताल मे डॉक्टरो का रवैये से मरीजो और उनके परिजनो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता  हैं। शुक्रवार को एक बार फिर हमीदिया अस्पताल मे जूनियर डॉक्टर ने मरीज के साथ मारपीट की। परिजनो का कसूर सिर्फ इतना था कि पाँच घंटे बाद भी इलाज शुरू नहीं होने पर उन्होने जूनियर डॉक्टर को इलाज करने के लिए बोला था। इससे जूड़ा गुस्से मे आगए और मरीज के साथ मारपीट करने लगे और साथ ही इलाज के लिए इधर उधर भी भटकाया। मामला बिगड़ा तो पुलिस को खबर करना पड़ी। तब कही जाकर मरीज का इलाज शुरू हुआ।

मामला कुछ ऐसा हुआ कि अन्नू नगर, करोद, निवासी मोहम्मद शाहिद को सीने मे दर्द के साथ ही पैर मे जकड़ कि शिकायत थी। उसके भैया और भाभी उसको लेकर दोपहर 12:30 बजे के करीब हामीदिया अस्पताल पहुंचे। डॉक्टरो ने उसे भर्ती तो कर लिया, लेकिन इलाज शुरू नहीं किया, शाम करीब पाँच बजे भी जब इलाज शुरू नहीं हुआ तो शाहिद के भाई ने जूड़ा को इलाज के लिए कहा। इस पर जूड़ा भड़क गया और बहस इतनी बढ़ गई कि जूड़ा ने शाहिद को थप्पड़ मर कर, वार्ड से बाहर निकाल दिया। हामीदिया चौकी प्रभारी एएसआई रामकरण पटेल ने बताया कि मरीज के परिजनो के मुताबिक जूनियर डॉक्टर इलाज नहीं कर रहे और मरीज को थप्पड़ भी मारा।  

वही जूड़ा का कहना था कि मरीज के परिजन बेबजह का शौर कर रहे थे। प्रभारी एएसआई रामकरण पटेल दोनों पक्षो को शांत करा कर मरीज का इलाज शुरू कराया और कहा कि अभी लिखित शिकायत नहीं मिली हैं। अगर शिकायत मिलेगी तो आगामी कार्रवाई कि जाएगी।

वही अस्पताल के अधीक्षक एके श्रीवास्तव ने कहा कि उन्हे इस मामले के बारे मे कोई जानकारी नहीं हैं।   

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com