ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया से आगे सड़क पर होना : सोनिया गांधी                भोपाल। प्रो॰ अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त।                भोपाल। कमलनाथ के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है भाजपा : पूर्व राज्यपाल कुरैशी।                विदिशा। मत भरो बिजली के बिल, वे लाइन काटेंगे, हम जोड़ देंगे : शिवराज सिंह चौहान                मध्य प्रदेश / 20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त                अहमदाबाद। मुझे विश्वास है लोगों की जान बचाने के लिए सभी राज्य केंद्र का एक्ट लागू करेंगे : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी                नई दिल्ली - जो भारत विरोधी गतिविधियों में लगे हुए हैं, उन्हें इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह                  
दो साल से बंद पड़े है वेदर स्टेशन।

भोपाल।(सुलेखा सिंगोरिया) भोपाल मे स्थापित ऑटोमेटिक देवर स्टेशन (एडब्ल्यूएस) पिछले दो साल से बंद पड़ा हैं। केवल भोपाल मे ही नहीं बल्कि प्रदेश के 50 जिलो मे मेंटेनेंस के अभाव मे इन एडब्ल्यूएस ने पिछले एक साल मे एक-एक कर काम करना बंद कर दिया हैं। 2018 के मानसून सीजन से पहले प्रदेश के लगभग 22 वेदर स्टेशन चालू थे, लेकिन अब सिर्फ देवास जिले का ऑटोमेटिक वेदर स्टेशन ही मौसम का लाइव डेटा संग्रहित कर पा रहा हैं। वर्षो से इन वेदर स्टेशन की देख-भाल तो दूर उनसे धूल भी नहीं झड़ाई गई हैं।

ऑटोमेटिक वेदर स्टेशन सीधा सैटेलाइट से लिंक होते है जो तापमान, आर्द्रता, हवा की गति, दिशा, वायुदाब, बारिश की रियल टाइम जानकारी एकत्रित कर पुणे स्थित मौसम विभाग के नेशनल फोरकॉस्ट मुख्यालय को भेजता हैं। वर्तमान मे देशभर मे लगभग 700 ऑटोमेटिक वेदर स्टेशन काम कर रहे हैं। हर जिले मे एक ऑटोमेटिक वेदर स्टेशन लगा हुआ हैं।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com