ब्रेकिंग न्यूज़ क्रिकेट। धोनी और जाधव ने निराश किया : सचिन तेंदुलकर।                इंदौर। केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर से हटाएगी धारा 370 : कैलाश विजयवर्गीय।                चैन्नई। इंदिरा गांधी को अरेस्ट करने वाले पूर्व डीजीपी का निधान।                क्रिकेट। आक्रामक अपील, विराट पर मैच फीस का 25% जुर्माना।                  
आईएसआई अधिकारी को घूस लेते, लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा।

इंदौर। लोकायुक्त डीएसपी प्रताप सिंह बघेल ने लिया आईएसआई मार्क के अधिकारी अरुण कुमार को गिरफ्तार। हम सभी आईएसआई का मार्क देखा कर ही सामान खरीदते हैं। क्योकि लोगो का भरोसा हैं आईएसआई पर लेकिन यही ठप्पा रिश्वत लेकर दिया गया हो तो? शनिवार को लोकायुक्त पुलिस ने भोपाल स्थित भारतीय मानक ब्यूरो के आंचलिक कार्यालय मे पदस्थ वैज्ञानिक (बी वर्ग) अरुण कुमार शंखवार को आईएसआई मार्क देने के एवज मे 10 हज़ार रूपय कि रिश्वत देते हुई रंगे हाथ पकड़ा। फरियादी सुनील अजमेरा ने बताया कि उनकी फैक्टरी मे स्वच्छता अभियान कि दवाए बनती हैं। अस्पतालो मे यह दवा देने के लिए आईएसआई का मार्क अनिवार्य होता हैं। इसी लाइसेन्स के लिए सितंबर 2018 मे आवेदन किया था। फरवरी मे खानापूर्ति हो गई और दिल्ली से सैंपल रिपोर्ट पॉज़िटिव आ गई, पर मई मे इस रिपोर्ट को शंखवार ने हाथ से फ़ेल लिखकर खारिज कर दिया। इसे लेकर जब भोपाल मे शंखवार से मुलाक़ात कि तो उन्होने रिश्वत कि मांग की, शुक्रवार शाम को शंखवार का फोन आया तो अजमेरा ने कहा की आप फैक्टरी पर निरीक्षण के लिए आ जाइए। यही पैसे दे देंगे। सुबह 10 बजे फैक्टरी पहुंचे शंखवार ने कहा की पानी के लाइसेन्स के लिए तो हम 2-2 लाख रूपय लेते हैं, आप से तो 50 हज़ार ही ले रहे हैं। अजमेरा ने तय मुताबिक 10 हज़ार शंखवार को दिये। शंखवार ने जैसे ही पैसे बेग मे रखे, उसे पकड़ लिया गया। अजमेरा ने यह जानकारी दो दिन पहले लोकायुक्त को दी थी।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com