ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया से आगे सड़क पर होना : सोनिया गांधी                भोपाल। प्रो॰ अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त।                भोपाल। कमलनाथ के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है भाजपा : पूर्व राज्यपाल कुरैशी।                विदिशा। मत भरो बिजली के बिल, वे लाइन काटेंगे, हम जोड़ देंगे : शिवराज सिंह चौहान                मध्य प्रदेश / 20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त                अहमदाबाद। मुझे विश्वास है लोगों की जान बचाने के लिए सभी राज्य केंद्र का एक्ट लागू करेंगे : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी                नई दिल्ली - जो भारत विरोधी गतिविधियों में लगे हुए हैं, उन्हें इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह                  
आकाश विजयवर्गीय की जमानत अर्जी खारिज हुई।

इंदौर। नगर निगम अधिकारी के साथ मारपीट के मामले मे जेल मे बंद विधायक कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय की अपील खारिज हुई। शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल मे जिस मकान को गिराने का आदेश दिया गया था, उसी मकान को बचाने के लिए आकाश विजयवर्गीय ने नगर निगम अधिकारी की बल्ले से पिटाई की। जिसके चलते उनके खिलाफ केस दर्ज कर उन्हे जेल मे डाल दिया गया हैं। गुरुवार को उनकी तरफ से अपर सत्र न्यायालय मे जमानत अपील दायर की गई थी। कोर्ट ने यह कहते हुई अपील खारिज कर दी की विधायक, मंत्री से जुड़े आपराधिक मामलो की सुनवाई के लिए भोपाल मे एक कोर्ट निर्धारित कर दी गई। सुनवाई के दौरान नगर निगम ने भी जमानत पर आपत्ति लेते हुए कहा कि जबलपुर हाईकोर्ट के 26 फरवरी 2018 को जारी नोटिफिकेशन से साफ है कि विधायक, सांसदो से जुडे मामलो कि सुनवाई भोपाल मे 21वें अपर सत्र न्यायाधीश ही करेंगे। अधिनियम 1951 (रिप्रेजेंटेशन ऑफ द पीपल एक्ट) के तहत यही विधायक आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ जिन धाराओ मे केस दर्ज हुआ हैं। यह ट्रायल के दौरान साबित हो जाती हैं। तो यह चुनाव लड़ने के लिए छह साल के लिए आयोग्य हो सकते हैं। जहां तक अधिकतम सजा कि बात है तो धारा 147 और 148 के तहत कम से कम 2 वर्ष और अधिकतम 7 साल की सजा हो सकती हैं।  

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com