ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
बाल निकेतन मे एक किशोरी ने पिया जहर।

भोपाल।(सुलेखा सिंगोरिया) माँ के पास जाने की ज़िद पुरी नही होने पर बाल निकेतन मे एक किशोरी ने जहर पी लिया। बीते कुछ समय मे बाल निकेतन मे ऐसी ही एक किशोरी ने घर जाने की ज़िद्द के चलते हाथ की नस काटकर आत्महत्या करने की कोशिश थी। वही अभी फिर से एक ओर  मामला सामने आया है, जहां पर किशोरी अपनी माँ के पास जाना चाहती है। दरअसल, किशोरी की शिकायत पर शाहजहांनाबाद पुलिस ने सौतेले पिता के खिलाफ ज्यादती का मामला दर्ज किया था। लेकिन बाद मे माँ के दबाव के बाद किशोरी ने ब्यान बदल दिया था। जिस कारण कोर्ट ने केस खारिज कर दिया। किशोरी को बाल निकेतन के रखने का आदेश दिया गया। जिसके चलते शुक्रवार को माँ के पास जाने की ज़िद करते हुई जहर पी लिया। बाल निकेतन प्रबन्धक को जानकारी लगने के बाद किशोरी को हमीदिया अस्पताल मे भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत स्थिर हैं। कोर्ट ने माँ को कुछ शर्तो के आधार पर किशोरी को रखने की इजाजत दी थी।  माँ उस व्यक्ति के साथ नहीं रहेगी। माँ को किशोरी के साथ दूसरे मकान मे रहना होगा, जहां पिता नहीं पहुंचेगा। बच्ची का भरण-पोषण और उसकी पढ़ाई लिखाई पूरी ज़िम्मेदारी के साथ निभाएगी। सोमवार को माँ ने समिति को शपत्र-पत्र दे दिया हैं।

निवेदिता शर्मा, सदस्य, बाल कल्याण समिति- कोर्ट की कुछ शर्तो के कारण से माँ को किशोरी नहीं सौंपी गई। जिस पर किशोरी ने जहर पी लिया था। माँ ने शर्तो तो पूरा कर दिया हैं। अब किशोरी माँ को सौंप रहे हैं। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com