ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
बार बार नोटिस देने के बाद भी 60 प्रतिशत ही कोचिंग, हॉस्टल ने जांच का मापदंड पुरा किया हैं।

भोपाल।(सुलेखा सिंगोरिया) प्रशासन के द्वारा कोचिंग व हॉस्टल के संचालको को दी हुई समय सीमा समाप्त हो गईं हैं। कोचिंग मे  अब महिलाओ की टीम बुधवार को हॉस्टलस की जांच के लिए एमपी नगर के जॉन-1 और 2 मे गई। जांच के दौरान 100 प्रतिशत मे से 60 प्रतिशत हॉस्टल ही सुरक्षा के इंतेजामात कर पाये हैं। बाकी 40 प्रतिशत अभी भी सुरक्षा का मापदंड पूरा नहीं कर पाये हैं, प्रशासन ने जांच मे मिली खामियो के दौरान कोचिंग व हॉस्टल के संचालको के सुरक्षा दुरुस्त करने के लिए समय दिया था। साथ ही यह भी कहा था कि अगर समय सीमा समाप्त के बाद जांच होने पर दोबारा गड़बड़ी मिली तो ताला बंदी के अलावा कानून कार्रवाई कि जाएगी। जांच के बाद जिस हॉस्टल मे खामियाँ मिली हैं उनकी लिस्ट कलेक्टर को सौंप दी गई हैं।

राजेश गुप्ता, एसडीएम, एमपी नगर- कोचिंग के साथ-साथ हॉस्टल कि भी जांच जा रही हैं। जिन हॉस्टल मे अभी भी गड़बड़ी मिल रही हैं। उनकी सूचना कलेक्टर को सौंप दी गई हैं। एक महीने के बाद 40 फीसदी हॉस्टल संचालको ने सुरक्षा के मापदंड पूरे नहीं किए हैं। उनको नोटिस जारी किया जाएगा।

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com