ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
सुल्तानिया अस्पताल मे माँ, बच्चे की मौत पर सवाल करने पर परिजनो को गार्ड ने धक्का मार बाहर किया।

भोपाल।(सुलेखा सिंगोरिया) परिजनो का आरोप है कि सुल्तानिया अस्पताल मे डॉक्टरो की लापरवाही के चलते डिलीवरी के लिए आई एक महिला और नवजात को अपने जीवन से हाथ धोना पड़ा।

भीलखेड़ा राजगढ़ निवासी पूजा को पति अनिल हाई बीपी (170/110) की हालत मे अस्पताल लाया था। उसको एक्लेंसिया हो गया था, जिस कि वजह से उसको झटके आ रहे थे। जिससे उसकी किडनी और लंग्स काम नहीं कर रहे थे। इसी वजह से पूजा कि मौत हो गई। डॉ॰ अरुण कुमार डीन ने बताया कि- पूजा को यहा भर्ती उस वक्त किया गया जब उसका बीपी हाई था। और साथ ही उसको एक्लेंसिया कि शिकायत भी थी। अगर पूजा को जल्दी भर्ती कराया जाता तो शायद उसकी जान बच सकती थी। वही परिजनो ने कहा कि पूजा को रविवार-सोमवार को रात करीब 1 बजे अस्पताल मे भर्ती कराया था। सुबह 4:30 उसने बेटे को जन्म दिया। और 8:30 बजे डॉक्टर ने माँ और बच्चे की मौत की जानकारी दी। परिजनो मे आरोप लगाया है की डॉक्टर के समय पर इलाज नहीं करने से पूजा और उसके बच्चे की मौत हो गई। जिसके बाद गार्ड ने परिजनो को धक्का मारकर बाहर निकाल दिया। इसी पर हँगामा शुरू हो गया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनो को शांत किया। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com