ब्रेकिंग न्यूज़ पुडुचेरी। केंद्र जरूरत के हिसाब से हमें राज्य केंद्र शासित प्रदेश कहता है , ट्रांसजेंडर का दर्जा क्यों नहीं देता : नारायणसामी                राजस्थान। जयपुर के मयंक ने 21 साल की उम्र में जज बनने की उपलब्धि की हासिल।                  
पुलिस प्रशासन अपनी लंबी फौज के बाद भी अपहरण किए बच्चे का पता नहीं लगा पाई है।

भोपाल। (सुलेखा सिंगोरिया) 35 घंटे बीतने के बाद भी 100 से भी ज़्यादा पुलिसकर्मियों की टीम तीन साल के मासूम बच्चे वरुण मीना का अभी तक कोई सुराग नही ढूंढ पाई हैं। कोलार के चिचली गाँव के निवासी किसान विपिन मीणा का बेटा वरुण मीणा रविवार की शाम करीब 7:30 बजे दादाजी से 10 रूपय लेकर घर से करीब पाँच सौ मीटर दूर किराना दुकान से चॉकलेट लेने निकला था। चिचली मे किराने की दो दुकान हैं। वह दुकान पर पहुंचता इससे पहले ही वह रहस्यमय ढंग से गायब हो गया। सोमवार को दो एएसपी, तीन सीएपी छह थाना प्रभारियो समेत 100 से ज़्यादा पुलिसकर्मियो की टीम चिचली गाँव के दो किलोमीटर के दायरे मे वरुण की तलाश करती रही। लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं आया। साथ ही संदेह मे आई, पन्नी बिनने वाली दो महिलाओ के साथ दान मांगने वाले दो बाबाओ का भी अभी पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला हैं।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com