ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया से आगे सड़क पर होना : सोनिया गांधी                भोपाल। प्रो॰ अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त।                भोपाल। कमलनाथ के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है भाजपा : पूर्व राज्यपाल कुरैशी।                विदिशा। मत भरो बिजली के बिल, वे लाइन काटेंगे, हम जोड़ देंगे : शिवराज सिंह चौहान                मध्य प्रदेश / 20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त                अहमदाबाद। मुझे विश्वास है लोगों की जान बचाने के लिए सभी राज्य केंद्र का एक्ट लागू करेंगे : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी                नई दिल्ली - जो भारत विरोधी गतिविधियों में लगे हुए हैं, उन्हें इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह                  
आयकर विभाग ने आय व संपत्ति मे मिली गड़बड़ी के मामले मे 50 विधायको को भेजा नोटिस।

भोपाल। आयकर विभाग ने जांच के दौरान आय व संपत्ति के हलफनामो मे मिली गड़बड़ी के मामले मे नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, नरोत्तम मिश्रा और पशुपालन मंत्री लाखन सिंह यादव समेत 50 विधायको के खिलाफ नोटिस जारी किए। दरअसल, विभाग ने चुनाव जीतने वाले सभी 230 विधायकों की प्रॉपर्टी के दस्तावेज खंगाले थे। जिनमें से 50 विधायकों के आय व संपत्ति के हलफनामों में गड़बड़ी मिली है। सूत्रों के मुताबिक इन 50 में से 20 विधायकों के हलफनामों की पड़ताल में यह स्पष्ट संकेत मिले हैं कि इन लोगों ने कई अहम जानकारियां छिपाई हैं। इसलिए इन सभी को आयकर अधिनियम की धारा 131 के तहत समन भी जारी किए गए हैं। इनसे 10 दिन में जवाब मांगा है। उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि नरोत्तम, गोपाल भार्गव और शशांक भार्गव को नोटिस मिल चुके हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को निर्देश दिए थे कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव जीतने वाले सभी प्रत्याशियों के प्रॉपर्टी की जांच एक निश्चित समय में की जाए। इसी कड़ी में इस बार मप्र और छग में इन्वेस्टिगेशन विंग पिछले आठ माह से हलफनामों की जांच कर रहा था। सूत्रों ने बताया कि कई नेताओं ने अपनी आय के ब्योरे 100-100 पेज में दिए थे। मप्र में सबसे अधिक समस्या वहां आई जहां विधायकों ने अपने पेनकार्ड तक की जानकारी नहीं दी थी। मप्र में 19 विधायकों के पेनकार्ड की जानकारी चुनाव आयोग के पास नहीं थी। इसलिए उनकी जांच में काफी समय लगा। सबसे पहले नेताओं के आयकर रिटर्न में दी गई आय की जानकारियों का हलफनामों से मिलान किया गया।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com