ब्रेकिंग न्यूज़ रायगढ़। 5 वर्षीया बच्ची से दुष्कर्म करने वाले मुंह बोले मामा को 10 साल की सजा                पेरिस। ‘टेम्पररी’ को निकालने में 70 साल लग गए, समझ नहीं आया कि हंसें या रोएं : प्रधानमंत्री मोदी                नई दिल्ली। मोदी को हमेशा बुरा कहना गलत, मुद्दों के आधार पर आकलन करें : कांग्रेस नेता सिंघवी।                मथुरा / जन्माष्टमी का जिम्मा निजी कंपनी को, श्रीकृष्ण का अभिषेक राजस्थानी गाय के दूध-घी से होगा                  
जागरूक नागरिक की जागरूकता के चलते टला एक बड़ा हादसा।

भोपाल। एयरपोर्ट रोड पर नवनिर्मित दाता कॉलोनी के पास ग्रेड सेपरेटर की दीवार के खुले सीसी ब्लॉक को देखकर मौके पर मौजूद जागरूक नागरिक ने एनएचएआई के अफसरों को खबर की। ग्रेड सेपरेटर नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) द्वारा 221 करोड़ रुपए की लागत से लालघाटी से मुबारकपुर जोड़ तक बनाए जा रहे 8 किमी लंबे फोरलेन का ही एक भाग हैं। समय रहते रहवासी वसीम उर रहमान की जागरूकता के चलते एक हादसा टल गया हैं। रहमान ने बताया कि रात करीब दो बजे उनकी नजर ग्रेड सेपरेटर की दीवार पर पड़ी। उन्होंने एनएचएआई के अफसरों से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन कोई रिस्पांस नहीं मिला। आठ बजे जब कंस्ट्रक्शन कंपनी के लोग पहुंचे और उन्हें पत्थर बाहर निकले हुए दिखाए। इसके बाद ग्रेड सेपरेटर पर ट्रैफिक रोक दिया गया। एएसपी ट्रैफिक प्रदीप सिंह चौहान ने कहा कि एनएचएआई ने ट्रैफिक बंद करने के संबंध में कोई जानकारी नहीं दी है। वहीं, एनएचएआई के अफसर यह बताने को राजी नहीं हैं कि ग्रेड सेपरेटर पर ट्रैफिक कब शुरू होगा?

 

वीके अमर, रिटायर्ड चीफ इंजीनियर, पीडब्ल्यूडी- ब्रिज की एप्रोच के निर्माण में गंभीर लापरवाही सामने आई है। एप्रोच ट्रैफिक का लोड नहीं सहन कर पाई। यह स्ट्रक्चर का फेल्यूअर है। इस घटना का बारिश से कोई संबंध नहीं है। निर्माण एजेंसी को कोपरा की फिलिंग के समय मानक का ध्यान रखना था। अब फौरी तौर पर रिपेयर करने की बजाय पूरे स्ट्रक्चर की जांच करके कार्रवाई करना चाहिए।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com