ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
केंद्र सरकार की अर्थनीति हुई फ़ेल, भारतीय अर्थव्यवस्था फिसलकर सातवें नंबर पर पहुंची।

नई दिल्‍ली। सकल घरेलू उत्पाद यानी GDP की वैश्विक रैंकिंग में भारतीय अर्थव्यवस्था फिसलकर सातवें नंबर पर आ गई है। वित्त वर्ष 2018 के लिए विश्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक GDP के मामले में भारत सातवें नंबर पर जबकि ब्रिटेन और फ्रांस क्रमशः पांचवें और छठे स्थान पर पहुंच गए हैं। साल 2017 में भारत फ्रांस को पछाड़कर आगे पहुंचा था, लेकिन इस बार फिसल गया है। GDP के मामले में अमेरिकी अर्थव्यवस्था टॉप पर बनी हुई है। कारोबारी साल 2018 में यूएस की GDP 20.5 ट्रिलियन डॉलर रही। अमेरिका के बाद दसरे पायदान पर चीन है। इस दौरान चीन की जीडीपी 13.6 ट्रिलियन डॉलर रही। 5 ट्रिलियन डॉलर की GDP के साथ जापान तीसरे पायदान पर है। ब्रिटेन और फ्रांस 2.8 ट्रिलियन डॉलर की GDP के साथ इस लिस्ट में पांचवें और छठे पायदान पर हैं जबकि भारत की जीडीपी 2.7 ट्रिलियन डॉलर दर्ज की गई। वित्त वर्ष 2017 में भारतीय अर्थव्यवस्था की जीडीपी 2.65 ट्रिलियन डॉलर थी, जिसने एशिया की तीसरी सबसे बड़ी उभरती इकॉनमी को विश्व की पांचवी सबसे बड़ी इकॉनमी बना दिया था। उस दौरान यूके की जीडीपी 2.64 ट्रिलियन डॉलर और फ्रांस की 2.5 ट्रिलियन डॉलर थी। इकनॉमिस्ट्स का कहना है कि वित्त वर्ष 2018 में भारतीय अर्थव्यवस्था के फिसलकर सातवें स्थान पर पहुंचने का मुख्य कारण रुपये के स्तर पर उतार-चढ़ाव और धीमी ग्रोथ है। इंडिया रेटिंग्स ऐंड रीसर्च में चीफ इकनॉमिस्ट देवेंद्र पंत ने कहा, ‘2017 में रुपया डॉलर के मुकाबले काफी मजबूत हुआ था लेकिन 2018 में इसमें कमजोरी दर्ज की गई लिहाजा GDP रैंकिंग में फिसलने के पीछे कमजोर रुपया और ग्रोथ में सुस्ती रहे।

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com