ब्रेकिंग न्यूज़ गुवाहाटी। भाजपा संविधान छलनी करने वाला बिल लाई : प्रियंका गांधी                नई दिल्ली। भारत की नसीहत- इमरान हमारे मामले में टिप्पणी करने के बजाय अपने देश के अल्पसंख्यकों पर ध्यान दें                नई दिल्ली/गुवाहाटी। नागरिकता कानून के खिलाफ गुवाहाटी में सबसे उग्र प्रदर्शन, पुलिस फायरिंग में 3 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई थी                  
राजधानी के मिलावटखोरो को संरक्षण देने वाला खादय अधिकारी डी के वर्मा और उसकी टीम पर प्रदेश सरकार कब करेगी कार्यवाही?



भोपाल (सैफुद्दीन सैफ़ी) मध्यप्रदेश में हाल ही में घी दूध मावे में मिलावटखोरी के कई मामले प्रकाश में आये है प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मिलावटखोरी के इन मामलों में दोषियो के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का बार बार प्रदेश की जनता को भरोसा दिलाया है। ऐसे ही बयान प्रदेश के स्वास्थ मंत्री तुलसी सिलावट ने भी दिए है। इन बयानों से इतर जो सच्चाई हम बताने जा रहे है वो ये है कि गत 15 साल के भाजपा शासन काल मे राजधानी सहित प्रदेश में जो मिलावट माफिया फला फुला है उसके हाथ अगर लोगो की जान से खिलवाड़ करने में किसी ने मजबूत किये है तो वो है खादय और औषधि प्रशासन के बेईमान रिश्वतखोर अफसर, इंस्पेक्टर जो सालो से एक ही जिले में जमे है और इनका पूरा संरक्षण मिलावट माफिया को मिला हुआ है।पूरे प्रदेश की बात को छोड़कर आईये राजधानी की बात करे तो विगत 10 सालो से खादय और औषधि विभाग में खादय अधिकारी के रूप में डीके वर्मा पदस्थ है  10 वर्षों में इनका तबादला भोपाल से बाहर क्यों नही किया गया पूर्ववर्ती सरकार में सेटिंग बाज रहे डी के वर्मा ने कमलनाथ सरकार आने के बाद भी सेटिंग कर अपनी पोस्टिंग को यथावत रखा है।क्यों क्या एक वर्मा से अच्छा कोई और सेटिंग बाज अधिकारी औषदि प्रशासन में नही है ये सवाल प्रदेश के स्वास्थ मंत्री श्री तुलसी सिलवट से और प्रदेश के मुखिया कमलनाथ जी से लोकजंग पूछता है।

प्रदेश के स्वास्थ मंत्री जो दावा कर रहे है कि मिलावट खोरो को बख्शेंगे नही मगर उनके विभाग का ही खादय अधिकारी  डी के वर्मा राजधानी के कुछ बड़े खादय सामग्री बनाने और बेचने वाले होटल मालिको नमकीन निर्माताओ और आइसक्रीम फेक्ट्री मालिको से साल में लाखों की रिश्वत लेकर इन मिलावटखोरो को खुला संरक्षण प्रदान कर रहा है और मंत्री सीना फुलाकर कार्यवाई की बात कर रहे है ये जनता के साथ मजाक है मंत्री जी पहले अपने विभाग के बेईमान अफसरों और इंस्पेक्टरों को हटाइये विभाग में ईमानदार अधिकारियों को पदस्थ कीजिये तब जाकर मिलावट माफिया पर शिकंजा कसने की बात कीजिये।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com