ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। प्रधानमंत्री इमरान खान बब्वर शेर है : नवजोत सिंह सिद्धू।                भोपाल। अयोध्या मामले के फैसले के बाद दिग्विजय के टवीट पर बड़ा विवाद।                शाहजहानाबाद। चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया।                मप्र / राज्य सरकार ने वैट 5% बढ़ाया, भोपाल में आज से पेट्रोल 2.91 रु. और इंदौर में 3.26 रुपए महंगा                इंदौर। मैं किसी श्वेता को नहीं पहचानता, सबके नाम उजागर होने चाहिए : पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह                  
ईशान के अपहरण की आरोपी श्रुति शर्मा को मिल सकती हैं क्लीनचिट।

भोपाल। नौ महीने से फरार चल रही आरोपी श्रुति शर्मा द्वारा बिल्डर के बेटे ईशान गुर्जर के अपहरण और मारपीट करने के आरोप मे पुलिस ने श्रुति को क्लीनचिट देने की तैयारी कर ली है। श्रुति ने साथियों के साथ मिलकर ईशान का अपहरण कर उसके साथ मारपीट की थी। जान बचाने के लिए ईशान चलती कार से कूद गया था। पुलिस ने श्रुति पर 10 हजार का इनाम भी घोषित कर रखा है। विधानसभा के पूर्व सचिव सत्यनारायण शर्मा की बेटी श्रुति और उसका साथी हैदर अली नौ महीने से फरार हैं, श्रुति पुलिस को चुनौती दे रही हैं,  लेकिन पुलिस उनका सुराग नहीं लगा सकी। इस मामले में पुलिस श्रुति के साथी फरहान समेत अन्य आरोपियों को गिरफ्तार चुकी है। गंभीर रूप से घायल ईशान ने बताया था कि श्रुति और फरहान ने चूना भट्टी से अपहरण किया था। इसके बाद उसे इधर-उधर घुमाते रहे और मारपीट की। उनसे जान बचाने के लिए उसने चलती कार से छलांग लगा दी थी। ईशान की हालत आज भी ठीक नहीं है।

वही, ईशान ने भी पिछले महीने थाना प्रभारी चूना भट्टी को शपथ पत्र प्रस्तुत किया था। जिसमें कहा गया था कि श्रुति निर्दोष है, वह कार चला रही थी। उसका नाम एफआईआर से हटाया जाए। माना जा रहा है कि यह शपथ पत्र भी ईशान द्वारा दबाव में दिया गया है। इस शपथ पत्र के आधार पर अफसरों ने डीपीओ की सलाह ली कि श्रुति का नाम एफआईआर में से कैसे हटाया जा सकता है? जिस पर डीपीओ ने सलाह दी कि इसका निराकरण कोर्ट ही कर सकता है। इसके बाद अफसरों ने हबीबगंज सीएसपी भूपेंद्र सिंह को किनारे कर केस डायरी अवलोकन के लिए टीटी नगर सीएसपी उमेश तिवारी के पास भेजने के आदेश दिए हैं। शनिवार को केस डायरी सीएसपी टीटी नगर को भेज दी गई है। माना जा रहा है कि केस डायरी अवलोकन के नाम पर सीएसपी के पास लंबित रहेगी, जिससे उसमें आगे कोई कार्रवाई न हो सके। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com