ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
करोड़ो रु॰ खर्च करने के बाद भी सड़कों के हाल बेहाल।

भोपाल। राजधानी की हर सड़क गड्ढो मे भर गई हैं। लोगो को वाहन चालको को अपनी जान को दाव पर लगाना पड़ रहा हैं। सड़कों से उखड़ी बारीक गिट्‌टी के कण हवा में उड़कर राहगीरों की आंखों में चुभ रहे हैं। जिससे कभी भी हादसे की स्थिति बन सकती हैं। भोपाल में नगर निगम, पीडब्ल्यूडी, और सीपीए के पास 4600 किलोमीटर से ज्यादा सड़कें हैं। हाल ही में बीआरटीएस का 9 करोड़ रुपए से मेंटेनेंस हुआ है, लेकिन यहां बड़े-बड़े गड्‌ढे हो गए हैं। शर्मनाक बात यह है कि अफसर मानने ही तैयार नहीं हैं कि शहर में सड़कें खराब हैं। यदि फोटो देखकर मान भी लें तो कहते हैं कि यह सड़क उनके विभाग की नहीं है। 

जगह-जगह गड्ढे हादसों को निमंत्रण दे रहे हैं। लेकिन कोई भी ज़िम्मेदारी लेने के लिए तैयार नहीं हैं। ज्यादातर सड़कों पर बारिश के पहले डामर की परत बिछाई गई थी। खास बात यह है कि इन सड़कों के मेंटेनेंस के नाम पर राजधानी में हर साल 20 करोड़ रुपए पानी में बहाए जा रहे हैं।

Advertisment
 
प्रधान संपादक उप संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी सुलेखा सिंगोरिय डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com