ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
नीट के छात्र 17 वर्षीय अनुराग पाठक ने लगाई फांसी।

भोपाल। नीट की तैयार करने आए अपने बुआ के साथ रह रहे एक छात्र ने लगाई फांसी। ग्राम गंगीरी, अलीगढ़ निवासी 17 वर्षीय अनुराग पाठक ने इसी साल 78 फीसदी अंकों के साथ 12वीं की परीक्षा पास की थी। पिता दिवाकर किसान हैं, वे इकलौते बेटे को डॉक्टर बनाना चाहते थे। इसलिए नौ जून को उन्होंने अनुराग को नीट यूजी की तैयारी करने के लिए भोपाल भेज दिया। तभी से वह फॉर्चून्य सौम्या हेरिटेज में रहने वाली अपनी बुआ सीमा शर्मा के घर रहने लगा था। उसका दाखिला एमपी नगर स्थित एक कोचिंग सेंटर में हुआ था। रविवार शाम साढ़े चार बजे सीमा एक किटी पार्टी में शामिल होने चली गई थीं। उस वक्त अनुराग पढ़ाई कर रहा था। दो घंटे बाद लौटीं तो दरवाजा अंदर से बंद था। दस्तक के बाद भी दरवाजा नहीं खुला तो पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोड़ दिया। अंदर जाकर देखा तो अनुराग ने फांसी लगा ली थी। फूफा शैलेंद्र शर्मा ने बताया कि नीट यूजी की तैयारी में वह काफी प्रेशर महसूस कर रहा था। हो सकता है कि इसी प्रेशर के कारण उसने ये कदम उठाया हो। हालांकि पुलिस को कोई सुसाइट नोट नहीं मिला हैं।

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com