ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। प्रधानमंत्री इमरान खान बब्वर शेर है : नवजोत सिंह सिद्धू।                भोपाल। अयोध्या मामले के फैसले के बाद दिग्विजय के टवीट पर बड़ा विवाद।                शाहजहानाबाद। चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया।                मप्र / राज्य सरकार ने वैट 5% बढ़ाया, भोपाल में आज से पेट्रोल 2.91 रु. और इंदौर में 3.26 रुपए महंगा                इंदौर। मैं किसी श्वेता को नहीं पहचानता, सबके नाम उजागर होने चाहिए : पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह                  
कवि सम्मेलन मे कई मशहूर कवियों ने लगाए ठहाके।


बालाघाट। ग्राम बोदा (बालाघाट)में  कल रात्रि दिनांक 16 अगस्त 2019 को शाम 7 बजे से ग्रामीणों द्वारा वीरांगना अवंतीबाई लोधी जयंती के अवसर पर रात्रि 8 बजे तक स्कूल चौक बोदा में दीप यात्रा निकाली गई तत्पश्चात माँ सरस्वती की पूजन करके 9 बजे सें कवि सम्मेलन प्रारंभ हुआ। जिसमें हीरापुर से कवि चन्द्रेश तूफानी, अजीत नंद, वारासिवनी से नरेन्द्र पारधी 'नाम',तरुण बनवारी 'नस्तर',अजय परिमल पायली से गोपालदास शेण्डे, बालाघाट से रमा प्रेम शांति एवं ग्राम बोदा के स्थानीय कवि-भानुप्रसाद लिल्हारे, मुकेश लिल्हारे, हीरापुर से बालिका आस्था 'आश्चर्य' तथा कटंगी से पधारे मंच संचालक बसंत विराट जी ने कुशलता से संचालन करके कवि सम्मेलन को ऊँचाई तक ले गये ।

सभी कवियों ने अपनी हास्य व्यंग्य विधाओं की कविताओं से श्रोताओं को ठहाके लगाने मजबूर कर दिया। सभी श्रोतागण भाव विभोर होकर तूफानी की हास्य-व्यंग्य कविता, नरेन्द्र पारधी जी की  हास्य-व्यंग्य, तरुण नस्तर जी की सुमधुर  आवाज, अजीत नंद जी का हास्य- कॉमेडी,अजय परिमल जी का:-"नेता ना कर नाटक"व्यंग्य ,गोपालदास जी का हास्य पूर्ण शुरुआत,आस्था 'आश्चर्य',का

देशभक्ति गीत, भानुप्रसाद लिल्हारे जी की वीररस से ओतप्रोत रचना तथा मुकेश लिल्हारे जी ने "मा"पर बडी ह्रदयस्पर्शी पंक्तियाँ तथा रमा प्रेम शांति जी का सुमधुर कंठ से गीत गायन से तमाम श्रोतागण मंत्रमुग्ध हो उठे ।

इस प्रकार ग्राम बोदा का कवि सम्मेलन निर्विघ्न सकुशल संपन्न हुआ ।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com