ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
पार्किंग को लेकर पार्षदो ने निगम के अफसरो पर निशाना साधा।

भोपाल। अवैध वसूली और अव्यवस्थाओं को रोकने शुरू हुई स्मार्ट पार्किंग से न तो नगर निगम को आय हो रही है और न ही लोगों को सुविधा मिल पा रही है। तीन साल में नगर निगम माइंडटेक कंपनी को 58 में से सिर्फ 26 पार्किंग स्थल ही दे पाया है। वहीं जो पार्किंग स्थल कंपनी को मिले हैं, उनमें स्मार्ट सुविधाएं शुरू ही नहीं हुई हैं। अब निगम कंपनी के साथ हुए अनुबंध को निरस्त कर नए सिरे से टेंडर जारी करने की तैयारी कर रहा है। सोमवार को एमआईसी बैठक में शंकर मकोरिया, दिनेश यादव और भूपेंद्र माली ने आरोप लगाया था कि निगम के अफसर माइंडटेक कंपनी की मदद कर रहे हैं। कंपनी ने अब तक मात्र 44 लाख रुपए जमा किए हैं। इसके विपरीत कंपनी ने 1 करोड़ 40 लाख रुपए का बिल नगर निगम को दे रखा है, जबकि पार्किंग स्थलों पर नगर निगम करीब दस करोड़ रुपए खर्च कर चुका है। अब तक पार्षद जय स्तंभ (न्यू मार्केट) और बिट्‌टन मार्केट में पार्किंग का संचालन कर रही यूनिक सिक्योरिटी सिस्टम प्रा. लि. का कॉन्ट्रेक्ट तीन साल बढ़ाने की मांग कर रहे थे, लेकिन जब अफसर नहीं माने तो उन्होंने माइंडटेक कंपनी की कमियों को मुद्दा बना लिया। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com