ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
बहू को घर से निकालने के लिए सास, जेठानी के किया खुद को घायल।

भोपाल। बहू को घर से निकालने के लिए सास, जेठानी ने किया खुद को घायल। जिला विधिक प्राधिकरण में ससुराल वालों द्वारा बहू को तरीके से प्रताड़ित करने का मामला सामने आया है। बहू ने बताया कि कम दहेज की वजह से ससुराल वाले अचानक घर से बाहर निकाल दिया, लेकिन मे ससुराल मे ही रहना चाहती हूँ।वही, ससुराल वालो ने पड़ोसियो, समाज के लागों और यहां तक कि कोर्ट को भी यही कहा  कि बहू साथ रहने को तैयार नहीं है।  हकीकत सामने तब आई जब मामले का समाधान करने के लिए जब जिला विधिक प्राधिकरण ने बहू के साथ सादे कपड़ों में पुलिस और पैरालीगल वॉलेंटियर जांच के लिए भेजा, बहू को पुलिस के साथ ससुराल भेजा तो देखा महिला की सास और जेठानी ने अपने ऊपर टीवी गिराकर खुद को घायल किया और चिल्लाने लगीं कि बहू मार रही है। दरअसल सास, जेठानी और ससुर को पता ही नहीं था कि साथ मे सादे कपड़ो मे कौन हैं। पुलिस ने अपनी रिपोर्ट प्राधिकरण को सौंप दी है। दरअसल प्राधिकरण में एक महिला ने आवेदन देकर कहा था कि ससुराल में रहना चाहती है, लेकिन ससुराल वाले साथ नहीं रख रहे। इस पर प्राधिकरण ने पति और ससुराल वालों को बुलाया तो उन्होने कहा कि वह तो उसे रखना चाहते है लेकिन वह खुद ही नहीं रहना चाहती।  रिपोर्ट के बाद जिला प्राधिकरण के सचिव आशुतोष मिश्रा का कहना है कि जब तक पति-पत्नी का तलाक नहीं हो जाता, तब तक पत्नी  को पति के साथ उसी घर में रहने का हक है। लड़के के माता-पिता हो या कोई अन्य रिश्तेदार किसी को अधिकार नहीं है कि वह पति-पत्नी को अलग करे। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com