ब्रेकिंग न्यूज़ इंदौर। भू-माफिया बॉबी छाबड़ा इंदौर मे गिरफ्तार।                महाराष्ट्र। हफ्ते मे 5 दिन खुलेंगे सरकारी ऑफिस।                पणजी। 59 साल के अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनर वेंडेल रॉड्रिक्स का निधन, 6 साल पहले पद्मश्री मिला था।                नई दिल्ली। 16 फरवरी को रामलीला मैदान मे केजरीवाल लेंगे शपथ।                बीजिंग। चीन में कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत में 103 लोगों ने जान गंवाई।                  
भोपाल चेंबर ऑफ कॉमर्स का कार्यकाल अगस्त 2018 मे खत्म, लेकिन अभी तक चुनाव का पता नहीं।

भोपाल। व्यापारी और उद्यमियों की सबसे बड़ी संस्था भोपाल चेंबर ऑफ कॉमर्स के लंबे समय तक चुनाव न होने से सदस्यों में खासी नाराजगी बनी हुई हैं। भोपाल चेंबर ऑफ कॉमर्स का मौजूदा कार्यकाल खत्म हुए करीब एक साल हो गया लेकिन अब तक इसके चुनाव का कुछ पता नहीं हैं। मौजूदा कार्यकारिणी का निर्वाचन 31 अगस्त 2015 को हुआ था। इसका 3 वर्ष का कार्यकाल 31 अगस्त 2018 को ही खत्म हो चुका है। चेंबर मे कुल 2200 सदस्य हैं।  मप्र सरकार में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा, महापौर आलोक शर्मा, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, मप्र कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष गोविंद गोयल, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव अतुल शर्मा भी चेंबर के मेंबर हैं। संस्था के उपाध्यक्ष तेजकुल पाल सिंह पाली ने तो पद से त्यागपत्र दे दिया। पाली को पिछले चुनावों में उपाध्यक्ष के पद पर सबसे अधिक वोट मिले थे। पिछले तीन साल में पद छोड़ने वाली पाली दूसरे पदाधिकारी हैं। इससे पहले अध्यक्ष पर वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाकर कोषाध्यक्ष आदित्य जैन मनयां ने भी इस्तीफा दे दिया था। संस्था के पूर्व अध्यक्ष संतोष अग्रवाल ने कहा कि पिछले तीन सालों में जीएसटी, रेरा और नोटबंदी जैसे अहम कानून आए जिनको लेकर व्यापारियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन चेंबर ने एक बार भी आगे आकर व्यापारियों के मुद्दे सरकार के समक्ष नहीं उठाए। पूरे साल अध्यक्ष ललित जैन के क्रियाकलाप को लेकर विवाद होते रहे। उन पर चेंबर के मद में जमा पैसे के दुरुपयोग के आरोप बार-बार लगे। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक उप संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी सुलेखा सिंगोरिय डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com