ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
बड़े तालाब मे पहले लगेंगे लाल निशान फिर मुनारे।

भोपाल। बड़े तालाब के दायर कहाँ तक फैला हैं इसकी जांच के लिए एफटीएल की मार्किंग के लिए मुनारें लगाने से पहले लाल निशान लगाया जाएगा। इस बारिश में बड़ा तालाब अपने फुल टैंक लेवल तक आ गया है, इसलिए उसके फैलाव की पहचान बहुत आसान हो गई है। जो मुनारें तालाब में डूबी हुईं हैं उन पर भी लाल निशान लगाया जाएगा। एफटीएल पर जहां तक पानी का फैलाव है उस पर लाल निशान लगाने के बाद मुनारें भी लगाई जाएंगी। जानकारी के अनुसार बड़े तालाब पर कुछ साल पहले 943 मुनारें लगाईं गईं थीं। तीन साल पहले हुए सर्वे में 143 मुनारें गायब हो गईं हैं। हाल में यह बात सामने आईं कि भैंसाखेड़ी क्षेत्र में 10 से ज्यादा मुनारें लोगों ने उखाड़ कर फेंक दीं गई हैं। नगरीय विकास विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे ने रविवार को सुबह तीन घंटे बड़े तालाब का निरीक्षण किया। उन्होंने खानूगांव से बैरागढ़ होते हुए, बिसनखेड़ी तक तालाब का निरीक्षण किया। दुबे ने निगम आयुक्त बी विजय दत्ता से तालाब के एफटीएल के पचास मीटर के दायरे में अतिक्रमण और उनकी रोकथाम के बारे में पूछा। इसके बाद उन्होंने कहा कि जब पानी एफटीएल तक आ गया है तो डिमार्केशन आसान होगा। हालांकि बारिश में नई मुनारें लगाना संभव नहीं है, इसलिए अभी लाल निशान से मार्किंग कर लें। पानी उतरने के बाद मुनारें लगवाएं।  इस बार निजी जमीन पर भी मुनारें लगाईं जाएंगी। इन जमीन के मालिक को स्पष्ट कर दिया जाएगा कि जब यह क्षेत्र नो कंस्ट्रक्शन जोन में शामिल है तो यहां एक मुनार लगाने से क्या परेशानी है? दुबे के निर्देश के तत्काल बाद निगम ने टीमें बना ली हैं। सोमवार से लाल निशान लगाने का काम शुरू हो जाएगा। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक उप संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी सुलेखा सिंगोरिय डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com