ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया से आगे सड़क पर होना : सोनिया गांधी                भोपाल। प्रो॰ अग्रवाल एपीएस विवि रीवा के कुलपति नियुक्त।                भोपाल। कमलनाथ के खिलाफ षड्यंत्र कर रही है भाजपा : पूर्व राज्यपाल कुरैशी।                विदिशा। मत भरो बिजली के बिल, वे लाइन काटेंगे, हम जोड़ देंगे : शिवराज सिंह चौहान                मध्य प्रदेश / 20 साल पहले सास फर्जी मार्कशीट से शिक्षक बनी थी, बहू की शिकायत पर बर्खास्त                अहमदाबाद। मुझे विश्वास है लोगों की जान बचाने के लिए सभी राज्य केंद्र का एक्ट लागू करेंगे : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी                नई दिल्ली - जो भारत विरोधी गतिविधियों में लगे हुए हैं, उन्हें इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह                  
जांच के दौरान गंदगी मिलने पर, हिमालय मिनरल वाटर प्लांट सील।

भोपाल(सुलेखा सिंगोरिया) शनिवार को खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अफसरों ने जांच के दौरान टैंक मे गंदगी, काई की परत मिलने पर राजधानी के एयरपोर्ट रोड पर स्थित पंचवटी कॉलोनी में संचालित हिमालय मिनरल वाटर प्लांट को सील कर दिया है। जिस टैंक में पानी को स्टेार किया गया था उसमें काफी गंदगी थी, उसमें काई की परत, साथ ही टैंक की सफाई लंबे समय से नहीं कराई गई थी, इसके अलावा भी कई अन्य प्रकार की गड़बड़ी यहां पर मिलने पर इसे सील कर दिया गया है।  इस प्लांट के संचालक भरत वासवानी हैं। संचालक ने न तो खाद्य एवं औषधि प्रशासन से लाइसेंस लिया था और न ही इसका कोई रजिस्ट्रेशन कराया था, फिर भी कैनों पर मिनरल वाटर का लोगो लगा हुआ था। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि यहां से रोजाना 40 रुपए की दर से एक कैन 20 लीटर पानी सप्लाई की जाती थी। जांच टीम ने जांच में पाया कि संचालक यहां पर घर में बने एक टैंक में पानी को स्टोर करने के बाद आरओ से फिल्टर कर कैन के माध्यम से बेचने का काम करता है। भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण ने एक महीने पहले नोटिफिकेशन जारी कर आरओ प्लांट से वाटर का ट्रीटमेंट कर उसे बेचने को खाद्य पदार्थ की श्रेणी में शामिल कर लिया है। सभी आरओ वाटर बेचने वालों को खाद्य लाइसेंस लेना अनिवार्य कर दिया गया है। जांच में पानी मानक स्तर का नहीं हुआ तो जुर्माना-सजा भी हो सकती है। खाद्य एवं औषधि प्रशासन के मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी डीके वर्मा ने बताया कि सभी आरओ प्लांट की जांच कराई जा रही है। जिस प्लांट का सील किया गया है, वहां से चार 20-20 लीटर के पानी के कैन सैंपल के लिए गए हैं। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com