ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। प्रधानमंत्री इमरान खान बब्वर शेर है : नवजोत सिंह सिद्धू।                भोपाल। अयोध्या मामले के फैसले के बाद दिग्विजय के टवीट पर बड़ा विवाद।                शाहजहानाबाद। चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया।                मप्र / राज्य सरकार ने वैट 5% बढ़ाया, भोपाल में आज से पेट्रोल 2.91 रु. और इंदौर में 3.26 रुपए महंगा                इंदौर। मैं किसी श्वेता को नहीं पहचानता, सबके नाम उजागर होने चाहिए : पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह                  
पीड़ित जब मुख्य मंत्री को अपनी शिकायत करेंगे तभी इंदौर पुलिस कार्यवाही करेगी?

 इंदौर। होस्टल में रहने वाले तीन युवक और एक युवती ने नशे की हालत मे इलेक्ट्रॉनिक व्यापारी और उनकी पत्नी के साथ की मारपीठ। पत्नी के सिर पर कड़े से गंभीर वार किए और मोबाइल फोन भी छीन लिया। मौके पर आई डायल-100 के जवानों ने भी उनसे बुरा व्यवहार किया। एक जवान ने कहा- नशे में धुत युवती और युवकों के मुंह क्यों लगे। शराब पीकर यूं रोड पर किसी के साथ गली-गलौच करना पुलिस की नज़र मे सही और उनके द्वारा की गई बद्शुलूकी सहने वाले गलत? तारीफ के काविल है पुलिस के जवान, पुलिस ही जब ऐसा व्यवहार करेगी तो पीड़ित लोग कहा जाएंगे, या फिर सभी को अपने साथ हुए अपराध का न्याय खुद से कर लेना चाहिए। क्योकि पुलिस प्रशासन को अभी अपने काम सीखने के साथ-साथ लोगो के साथ किस प्रकार का व्यवहार करना यह सीखना भी अति आवश्यक हैं। उन्हे याद दिलाने की सख्त जरूरत हैं कि उनको जनता की सुरक्षा के लिए रखा गया हैं।  

महालक्ष्मी नगर में रहने वाले इलेक्ट्रॉनिक व्यापारी सचिन अग्रवाल ने बताया कि वे रविवार रात करीब 11.30 बजे पत्नी अंबिका के साथ कार से घर लौट रहे थे, तभी चिकित्सक नगर में बीच सड़क पर बाइक खड़ी कर एक युवक बैठा था। उसे हटने को कहा, लेकिन नहीं माना। उसे चिल्लाया तो उसके साथ खड़ी एक युवती ने गाली-गलौज की और मेरी कॉलर पकड़ ली। कार में बैठी पत्नी ने युवती का वीडियो बनाना शुरू किया तो उसका साथी पत्नी के पास आया और बाल पकड़कर कड़े से सिर में वार किए और मोबाइल छीन लिया। युवक के दो अन्य दोस्त आ गए और मुझे पीटना शुरू कर दिया। पत्नी ने शोर मचाया तो आसपास के लोग आए और कुछ ने हंगामा देख पुलिस को डायल-100 पर कॉल कर दिया। 15 मिनट बाद पुलिस जवान आए तो हमें ही बुरा-भला बोलने लगे और बाद में थाने ले जाकर एफआईआर की। दंपती का आरोप है कि युवक-युवती शराब के नशे में थे। ये सभी होस्टल के छात्र हैं। पुलिस ने घटना के बाद तीनों युवकों को थाने में बैठा लिया था।

 

दुबई मे रहने वाले एनआरआई दंपति इंजीनियर सचिन कुशवाह और डॉ दीपा सिंह कुशवाह ने 2015 मे गांधीनगर क्षेत्र कि एक टाउनशिप मे 13 हजार वर्गफीट का प्लॉट 70  लाख मे खरीदा था पूरे पैसे देने के बाद भी टाउनशिप प्रबंधन रजिस्ट्री नहीं कर रह अहइन हर बार नए नियम बता देता हैं अब तक 78 लाख दे चुके हैं। मैंने गांधीनगर थाने से लेकर सीएसपी,एसपी और एसएसपी तक से शिकायत की। लेकिन सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद सीएम को ट्वीट किया इसके कुछ देर बाद ही उन्हे भोपाल और इंदौर से फोन आए। उन्हे गांधीनगर बुलाया गया। सीएसपी सौम्या जैन का कहना हैं कि आला अफसरो से चर्चा के बाद जो भी उचित होगा कार्रवाई करेंगे। कुछ इस  तरह से कि जा रही हैं सुनवाई कि पहले आप सीएम को अपनी शिकायत  पोस्ट करे इसके बाद  ही अफसर कार्रवाई करेंगे।

 

मुख्यमंत्रीजी, हर पीड़िता के पास ट्वीट करने का समय नहीं होता, इसलिए इंदौर पुलिस को बोले, पीड़ा देखे आपकी पोस्ट नहीं  : मुख्यमंत्री को ट्वीट हुआ तो एक एनआरआई की सुनवाई हुई। कैफे में छेड़छाड़ करने वालों की जगह पीड़िता के दोस्तों को ही अंदर कर देने वाली पुलिस ने पीएम को टैग किए वीडियो को देख 19 घंटे बाद एफआईआर की। पीड़ित की सुनने के बजाए उसे प्रताड़ित करने और सोशल मीडिया पर बात आई तो मामला दर्ज करने का यह सिलसिला जारी है। एक एनआरआई को भी पुलिस की इस ‘ऑनलाइन ओनली’ व्यवस्था का शिकार होना पड़ा। पुलिस के शीर्ष अफसरों को तत्काल इन सभी हाईटेक थानाधिकारियों को तलब कर इस चिंताजनक रवैये को खत्म करना चाहिए। अफसर इसमें असक्षम हों तो सीएम को इन्हें भोपाल बुला कर इनकी मंशा पूछनी चाहिए। इंदौर का हर पीड़ित सीएम को ट्वीट करे, पीएम को टैग करे तभी पुलिस को उसे सुनना चाहिए क्या?

 1॰ थैरेपिस्ट ने छेड़छाड़ का वीडियो डाला, 19 घंटे बाद केस : 24 अगस्त : कैफ में फिजियोथैरेपिस्ट से 3 युवकों ने छेड़छाड़ की। युवती और उसके दोस्त थाने पहुंचे तो पुलिस ने दोस्तों को ही हवालात में डाल दिया। युवती ने इंस्टाग्राम पर घटना का वीडियो डाल दिया। 19 घंटे बाद केस दर्ज हो पाया।

2. एनआरआई-काराेबारी विवाद, सीएम को ट्वीट तो सुनवाई : 23 अगस्त : साकेत नगर में बंगला खाली कराने को लेकर एनआरआई ऑर्किटेक्ट मनोज वर्गीस का लिमड़ी राजघराने से जुड़े कारोबारी शिवराज लिमड़ी से विवाद हुआ। एनआरआई ने सीएम को ट्वीट किया तो पुलिस हरकत में आई। 

3. कांग्रेस नेता के भाई ने पीटा, मैसेज चला तो सुनवाई  : 22 अगस्त : कमोडिटी व्यापारी भरत सिंघल का अपहरण व हमला करने वाले रानू अग्निहोत्री पर कार्रवाई नहीं हुई। एसआई ने सिर्फ फरियादी के बयान लिए। अगली सुबह सोशल मीडिया पर मैसेज चले तो एसपी ने केस दर्ज करवाया।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com