ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह के समर्थन मे कई नेताओ ने कलेक्टर से की बातचीत।


भोपाल। 23 लाख 76 हजार रुपए की वसूले के मामले पर पूर्व विधायक सुरेन्द्रनाथ सिंह के समर्थन मे कई नेताओ ने उठाई आवाज। मंगलवार को रामेश्वर शर्मा, पूर्व सांसद आलोक संजर, भाजपा नेता ब्रजेश लुनावट, जिलाध्यक्ष विकास वीरानी, महापौर आलोक शर्मा, विधायक विश्वास सारंग ने कलेक्टर और संभाग कमिश्नर से मीटिंग की। सभी ने सिंह के बचाव मे बात की और कहा कि यह वसूली लोकतन्त्र का गला घोटने जैसे हैं। इस पर कलेक्टर पिथौड़े और संभाग कमिश्नर ने कहा कि अभी सिर्फ प्रस्ताव भेजा गया हैं इस पर अभी कोई निर्णय नहीं हुआ हैं। अभी नियमो कि जांच कराई जा रही हैं, साथ ही नेताओ को आश्वाशन दिया कि फिलकल अभी सिर्फ प्रस्ताव आया हैं फैसला होना बाकी हैं। कुछ दिन पहले एसपी मुख्यालय मिथिलेश शुक्ला ने पूर्व विधायक से वसूली कि अनुशंसा कि थी।

आईजी देशमुख के खिलाफ मम्मा का बयान...... मंगलवार को वसूले के मामले पर सिंह (मम्मा) ने कहा कि कमलनाथ नहीं बल्कि अब आईजी योगेश देशमुख प्रदेश के मुख्यमंत्री बन गए हैं वही बताएँगे कि रैली कहा और कब निकली जाए, नारियल कहा फोड़ना हैं। मम्मा ने कहा कि प्रभारी मंत्री के निर्देश के बाद भी आईजी प्रदर्शन के संबंध मे नियम जारी कर रहे हैं। साथ ही बोले- अगर बिजली बिल और बेरोजगारी जैसे वादे पूरे नहीं हुये तो 100 स्थानो पर प्रदर्शन करूंगा अभी तो सिर्फ 12 स्थानो पर किया था। दरअसल, आईजी देशमुख ने मम्मा पर 23 लाख 76 हजार रूपए कि वसूली का प्रस्ताव कलेक्टर को भेजा हैं हालांकि इस प्रस्ताव प्रभारी मंत्री गोविंद के साथ कॉंग्रेस नेताओ ने भी असहमति जताई हैं।

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com