ब्रेकिंग न्यूज़ मप्र / राज्य सरकार ने वैट 5% बढ़ाया, भोपाल में आज से पेट्रोल 2.91 रु. और इंदौर में 3.26 रुपए महंगा                इंदौर। मैं किसी श्वेता को नहीं पहचानता, सबके नाम उजागर होने चाहिए : पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह                भोपाल। हनी ट्रेप महिलाओ ने किए कई बड़े खुलासे, पुलिस पर बना दवाब।                पुलवामा जैसी घटना ही महाराष्ट्र के लोगो का मूड बदल सकती हैं : शरद पवार।                महाराष्ट्र। हमें शिवसेना को डिप्टी सीएम का पद देने में कोई दिक्कत नहीं : मुख्यमंत्री फडणवीस।                  
जांच मे खुलासा......बैरसिया सिविल अस्पताल मे न डॉक्टर है और भी मरीजो के लिए व्यवस्थाए।

भोपाल। मंगलवार सुबह 9 बजे बैरसिया सिविल अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे कृषि विभाग के उप संचालक उत्तम सिंह जादौन जहां उन्हे अस्पताल अव्यवस्थित हाल मे मिला। अस्पताल मे डॉक्टरो की संख्या न के जैसी हैं वही मरीज करीबन सात सौ होंगे। सुबह नौ बजे उप संचालक उत्तम सिंह जादौन पहुंचे तो कोई भी डॉक्टर मौजूद नहीं था, जब जबकि मरीज पहुंच चुके थे। यहां पर 50 बेड होना चाहिए, लेकिन 30 बेड का अस्पताल ही संचालित हो रहा है। ऐसे में मरीज बढ़ने पर उनको हमीदिया रैफर करना पड़ रहा है। 16 डॉक्टर के पद यहां स्वीकृत हैं, लेकिन 4 ही काम कर रहे हैं। इसमें एक की नाइट ड्यूटी रहती है। इसके चलते सिर्फ 3 डॉक्टरों के भरोसे 700 मरीजों को यहां पर देखा जा रहा है। जादौन ने अस्पताल का मुआयना कर रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दी है। इसी अस्पताल में शाम को एक दूसरे अफसर जांच के लिए पहुंचे, उस वक्त डॉक्टरों की संख्या पूरी थी। ठीक इसी तरह से कमला नगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पीने के पानी के बेहतर इंतजाम नहीं थे, जांच के बाद दोपहर तक यह इंतजाम दुरुस्त कर लिए गए हैं। यहां पर सरकार द्वारा तय 107 प्रकार की दवाओं का स्टॉक मिला है। सफाई-सफाई के इंतजाम भी बेहतर हैं। बैरागढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और कोलार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी व्यवस्थाएं दुरुस्त मिली हैं। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com