ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। दीपिका उन लोगों के साथ खड़ी हुईं, जो हर सीआरपीएफ जवान की मौत पर जश्न मनाते हैं : स्मृति ईरानी                जयपुर / पुलिस का दावा- इंडियन ऑयल के मैनेजर ने ही पत्नी और 21 महीने के बेटे की हत्या करवाई,                कोलकाता। मैं अकेले ही सीएए और एनआरसी का विरोध करूंगी, पश्चिम बंगाल में इन्हें लागू नहीं होने दूंगी:ममता बेनर्जी                नई दिल्ली। दुष्कर्मी विनय ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की, फांसी पर रोक लगाने की भी मांग की                दिल्ली चुनाव: कांग्रेस बढ़ी तो AAP को टेंशन, घटी तो BJP की वापसी पर लगेगा ग्रहण                  
रेलवे क्लर्क की नौकरी के पद के नाम पर महिला ने 12 लोगो के साथ की एक करोड़ रु की ठगी।

भोपाल। रेलवे में क्लर्क की नौकरी दिलाने के नाम पर मिनाल रेसीडेंसी निवासी एक महिला ने 500 से ज्यादा बेरोजगारों से एक करोड़ रुपए भारी रकम ऐंठी। धोखाधड़ी जब सामने आई तब तय समय के बाद भी बेरोजगारों के घर नियुक्ति पत्र नहीं मिलने पर की पुलिस मे शिकायत। दमोह पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है। उसने अब तक दमोह के 12 बेरोजगारों से रकम ऐंठना कबूल किया है। दरअसल, दमोह के कोतवाली टीआई एचआर पांडे ने बताया कि मिनाल रेसीडेंसी के गेट नंबर 2 के पास रहने वाली ममता रैकवार का भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल में आना-जाना था। इसी अस्पताल में दमोह निवासी राजेश चौरसिया अपनी पत्नी राधा का इलाज कराने गए थे। इस बीच ममता से उनकी मुलाकात हो गई तो ममता ने उन्हें रेलवे में नौकरी दिलाने का लालच दिया। जिस पर राजेश ने 4 लाख 20 हजार की राशि ममता को दे दी और ए ग्रेड क्लर्क की नौकरी के लिए आवेदन दिया। ममता ने कुछ दिनों बाद नियुक्ति पत्र जारी होने की बात कही। इस बीच राजेश भोपाल से आए और पत्नी राधा, साले हरिओम चौरसिया, श्रीराम चौरसिया, कपिल चौरसिया, साढू दीपक चौरसिया, भाभी मीनाक्षी चौरसिया की नियुक्ति के लिए भी प्रति व्यक्ति से 4 लाख 20 रुपए की राशि लेकर ममता के पास 29 लाख 40 हजार रुपए जमा करा दिए, लेकिन एक साल में जब किसी का नियुक्ति पत्र नहीं आया तो उन्हें शक हुआ और उसने कोतवाली में जाकर शिकायत दर्ज कराई, जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने सर्चिंग चालू की और ममता को भोपाल से गिरफ्तार किया। ममता ने ग्वालियर, दमोह, भोपाल और जबलपुर के 500 से ज्यादा लोगो को बेवकूफ बना कर एक करोड़ की मोटी रकम ऐंठी,जिसमे से दमोह के 12 बेरोजगारों से रकम ऐंठना कबूल किया है। ममता ने कोतवाली में बताया कि यह उसने स्वयं नहीं किया है, बल्कि भोपाल रेलवे मंडल में पदस्थ विजिट ऑफिसर विनीता राव के कहने पर किया है।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com