ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
एमटेक की छात्रा ने पेट्रोल डालकर लगाई आग, मौत।

भोपाल। पेट्रोल डालकर मैनिट कि एक एमटेक छात्रा लक्षिका मेहरा मे लगाई आग। एक हफ्ते जिंदगी और मौत के बीच जूझते हुए सोमवार को दम तोड़ा। लक्षिका ने बयान मे बताया कि उसने खुद से आग लगाई थी।

थाना प्रभारी जेपी त्रिपाठी ने बताया कि वर्धमान ग्रीन पार्क, अशोका गार्डन रहने वाली एमटेक छात्रा लक्षिका का शव रातीबड़ थाने से चार किमी आगे सेमारी जोड़ के पास संदिग्ध परिस्थितियो मे आगे से झुलसा हुआ मिला। मजिस्ट्रेट द्वारा लिए गए बयान मे लक्षिका मे खुद ही पेट्रोल डालकर आग लगाने कि बात कही हैं हालांकि छात्रा का शरीर का पिछला हिस्सा ही जला था, जहां खुद पेट्रोल डालकर आग लगाया मुश्किल हैं। जेपी त्रिपाठी ने बताया कि जब वह आग से झुलसने लगी तो बचाने के लिए उसके पानी से भरे खेत मे छलांग लगा दी। सवाल यह हैं कि छात्रा घर से करीब 25 किमी दूर गई क्यो? यदि किसी ने उसे जलाया हैं तो उसने बयान मे किसी का नाम क्यो नहीं लिया?

 छात्रा के पिता रामराज ने बताया कि रोज के जैसे लक्षिका नौ सिंतम्बर को भी मुझसे पोकिट मनी लेकर कॉलेज के लिए निकली। करीब दो घंटे बाद मेरे पास अंजान नंबर कॉल आया। तो पता चला लक्षिका किसी को आग से झुलसी हुई मिली हैं। मैंने कहा आप उसे अस्पताल लेकर चलो मे आता हूँ। हमारी मुलाक़ात स्पॉट मे 7 किमी दूर हुई, हम उसे लेकर चिरायु अस्पताल पहुंचे, 70 फीसदी जलने के चलते उसे हमीदिया रैफर कर दिया गया। यहाँ आठ दिन चले इलाज के बाद सोमवार शाम सात बजे उसने दम तोड़ दिया।

Advertisment
 
प्रधान संपादक उप संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी सुलेखा सिंगोरिय डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com