ब्रेकिंग न्यूज़ शाहजहानाबाद। चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया।                मप्र / राज्य सरकार ने वैट 5% बढ़ाया, भोपाल में आज से पेट्रोल 2.91 रु. और इंदौर में 3.26 रुपए महंगा                इंदौर। मैं किसी श्वेता को नहीं पहचानता, सबके नाम उजागर होने चाहिए : पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह                  
हनी और मनी की लालच मे नेता,मंत्री अफसर हुए नंगे।




भोपाल।(सैफ उददीनसैफीगुरुवार को हुआ एक बड़े खुलासे मे सामने आया की राजधानी मे 5 महिलाओ ने किस प्रकार से नेताओं और अफसरों के अश्लील वीडियो बनाकर उनसे करोड़ो रु॰ की मांग करती थी। पुलिस ने इस गिरोह की पांच महिलाओं व एक ड्राइवर को गिरफ्तार किया है। यह मामला इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजनसिंह की एक एफआईआर से यह सब सामने आया हैं जहां यह महिलाए इंजीनियर को एक छात्रा के साथ बनाया वीडियो वायरल करने की धमकी देकर 3 करोड़ रुपए की मांग कर रही थीं। जानकारी के अनुसार भोपाल की आरती पति पंकज दयाल की निगम इंजीनियर से दोस्ती थी। आरती ने नौकरी दिलाने के बहाने नरसिंहगढ़ की 18 वर्षीय बीएससी छात्रा मोनिका यादव, पिता लाल यादव की इंजीनियर से दोस्ती करवाई। फिर होटल में आरती ने मोबाइल फोन से दोनों का वीडियो बनाया। वीडियो बनाने के बाद आरती और मोनिका इंजीनियर को ब्लैकमेल करने लगीं। ब्लैकमेलिंग का यह सिलसिला आठ महीनों से चल रहा था। इस दौरान इंजीनियर तीन बार पैसे भी दे चुके थे। इस बार तीन करोड़ की डिमांड आई तो इंजीनियर ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी। एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि हरभजन ने तीन दिन पहले पलासिया थाने में शिकायत दी थी, जिसके बाद पुलिस ने इन महिलाओं को फोन कर इंदौर आकर 50 लाख रु. की पहली किस्त लेने का लालच दिया। आरती, मोनिका और ड्राइवर ओमप्रकाश जब विजय नगर स्थित बीसीएम हाईट्स पहुंचे तो पुलिस ने इन्हें धरदबोचा आरती भोपाल में सागर लैंडमार्क मिनाल रेसीडेंसी में रहती है। आरती ने पूछताछ के दौरान बताया कि उनके साथ भोपाल की तीन और महिलाएं हैं। इस पर इंदौर पुलिस ने एटीएस से संपर्क किया और बुधवार देर रात ही पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। सभी ने कबूला कि वे इंजीनियर को वीडियो के नाम पर ब्लैकमेल कर रही थीं। गुरुवार को आरती और मोनिका को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से इन्हें 22 सितंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। पुलिस को श्वेता जैन के घर से 14.17 लाख रु. नकद मिले। सभी महिलाओं से मोबाइल फोन, पेन ड्राइव और लैपटॉप मिले हैं। बताया जा रहा है कि लैपटॉप में एक दर्जन से ज्यादा वीडियो, 8 से ज्यादा सिम, मोबाइल फोन भी हैं। पुलिस अभी सारे वीडियो और लैपटॉप की जांच कर रही है। क्राइम ब्रांच के सूत्रों का कहना है कि ज्यादातर वीडियो नेताओं और अफसरों के हैं, जिन्हें ये महिलाएं प्यार में फंसाकर ब्लैकमेल कर रहीं थीं।



आरती दयाल, छतरपुर निवासी- कृषि, ग्रामीण व पंचायत विभाग से एनजीओ के नाम पर फंडिंग ली। वल्लभ भवन के ग्राउंड फ्लोर पर बैठने वाले एक आईएएस, भोपाल-इंदौर में कलेक्टर रहे एक आईएएस की करीबी। मीनाल में फ्लैट, होशंगाबाद रोड पर प्लॉट, जो एक आईएएस ने पीछा छुड़ाने के लिए दिलवाया है।

श्वेता विजय जैन, सागर निवासी- भाजपा में सक्रिय। एक पूर्व सीएम को फंसाया। उन्होंने मीनाल रेजीडेंसी में बंगला दिलवाया। बुंदेलखंड, मालवा-निमाड़ के एक-एक पूर्व मंत्री की करीबी। एनजीओ को फंडिंग। सागर के एक कलेक्टर संग बंगले पर उनकी पत्नी ने पकड़ा था। फिलहाल कंपनी खोल ली है।
श्वेता स्वप्निल जैन, भोपाल निवासी- रिवेयरा में पूर्व मंत्री के बंगले में 35 हजार महीना किराए से रह रही। एक पूर्व सांसद की सीडी बनवाई, दो करोड़ वसूले। भाजपा के एक कद्दावर नेता ने ब्लैकमेलिंग पर चुनाव के पहले इसे दुबई भेजा था। 10 माह बाद लौटी। अभी तीन कलेक्टर के तबादलों में भूमिका।
बरखा भटनागर सोनी- निमाड़ के एक नेता के साथ कांग्रेस में आई। इन नेता के पूर्व मंत्री के भाई से अच्छे संबंध रहे हैं। एनजीओ के लिए काफी डोनेशन लिया। वर्तमान में दो मंत्री और एक पूर्व प्रदेशाध्यक्ष से नजदीकी। पति अमित सोनी कांग्रेस आईटी सेल में रहा है। लाईजनिंग में सक्रिय रही।
मोनिका यादव, राजगढ़ निवासी- बीएससी की पढ़ाई कर रही है। उम्र 18 वर्ष से थोड़ी अधिक है। आईएएस और कुछ नेताओं के पास आना-जाना था। ये मोबाइल फोन पर मीठी बातों और मैसेज से अफसरों को फंसाने में सक्रिय है। आरती ने इसे जोड़ा था।

मुख्यमंत्री ने कमलनाथ ने मामले की जानकारी। वीडियो क्लिप की बात सामने आने के बाद तुरंत चुनिंदा अधिकारियों से बात की। इसी के बाद ताबड़-तोड़ कार्रवाई हुई। फिलहाल सभी अधिकारियों पर नजर रखने की जिम्मेदारी इंटेलीजेंस को दे दी गई है। 

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com