ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
भोपाल स्टेशन पर जिम्मेदार अधिकारियों की निगरानी मे वेंडर की मनमानी जारी।

भोपाल। भोपाल रेलवे स्टेशन पर खुलेआम वेंडर कर रहे हैं अपनी मनमानी कर बेच रहे हैं जनता खाना। वेंडर हाथ से ही पैकेट पर जनता खाना और उसके रेट लिख देते हैं...और यह यात्रियो को पहुंचा भी दिया जाता है। लापरवाही की हद तो यह कि फिर हमारे रेलवे के जिम्मेदार अधिकारियों को इसकी कोई खबर नहीं है। अधिकारियों का कहना हैं कि लगातार यात्रियों की जरूरत से जुड़े इस प्रमुख मामले पर लगातार मॉनीटरिंग कि जा रही हैं, तो फिर सवाल यह उठता हैं कि मॉनीटरिंग के बाद भी यदि वेंडरों की मनमानी जारी है तो इसका जिम्मेदार कौन है? भोपाल स्टेशन पर राष्ट्रीय रेल यात्री सेवा समिति के अध्यक्ष रमेश चंद्र रत्न, सदस्य रमेश चंद्र शर्मा और पूजा विधानी बुधवार दोपहर करीब एक बजे जब भोपाल स्टेशन का दौरा करने पहुंचे तो खुलेआम रेलवे के नियमो के खिलाफ वेंडर कि मनमानी और अधिकारियों कि ज़िम्मेदारी देखकर आश्चर्य मे आ गए। इस दौरान साथ में सीनियर डीसीएम अनुराग पटेरिया व एडीआरएम अजीत रघुवंशी भी मौजूद थे। इन स्टाल्स पर खाने के पैकेट पर जनता खाना हाथ से लिखा हुआ था। रेट, वजन और खाना कब तैयार हुआ है, इसकी भी जानकारी प्रिंट के बजाय हाथ से लिखी गई थी। समिति ने 5 स्टाल्स पर तुरंत 5-5 हजार का जुर्माना लगाया। साथ ही, प्लेटफॉर्म 1 पर एचबी व्हीलर्स के स्टॉल पर खुशवंत सिंह सहित कुछ लेखकों की उन किताबों पर समिति अध्यक्ष ने आपत्ति जताते हुए (जिनके शीर्षक कुछ अश्लील भाषा में लिखे हुए थे) हटाने को कहा। वही, इस बारे में सीनियर डीसीएम अनुराग पटेरिया से हा कहना था कि हमारा स्टाफ लगातार निगरानी करता है। हम गड़बड़ी करने पर वेंडरों पर कार्रवाई भी करते हैं।

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com