ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल, टेस्ट ऑफ इंडिया रेस्टोरेंट में खाद्यय विभाग का छापा मावे का नमूना दूषित पाया गया                इंदौर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तबियत में सुधार                मुबई ग्लोबल मार्केट में तेजी के कारण बढ सकते हे खाद्द्य तेलों के दाम                भोपाल सिपाही रितेश यादव ने दर्द से परेशां होकर की ख़ुदकुशी                भोपाल संकट समय केन्द्रिये मंत्री से युवक ने आक्सीजन मांगी मंत्री पटेल ने कहा दो खाओगे                भोपाल पुलिस दुआरा मनमर्जी से बैरिगेट्स लगाने को लेकर जनता में गुस्सा                भोपाल दस दिनों में करोना से दस शिक्षकों की मौत,आयुक्त ने जानकारी बुलवाई                भोपाल खाना बनाते समय महिला आग से झुलसी                भोपाल डॉ ने सफाईकर्मी महिला को मारा थप्पड़ कर्मचारी गए हड़ताल पर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                  
राजधानी स्मार्ट सिटी मे 1300 करोड़ खर्च के बाद भी हालात वही के वही।

भोपाल। देश की 100 सिटी मे से भोपाल को स्मार्ट सिटी का अवॉर्ड मिला हैं। लेकिन हकीकत कुछ और ही हैं और वह यह हैं कि 1300 करोड़ के खर्च के बाद भी भोपाल के हालात वही हैं, जो 5 साल पहले थे। करोड़ो खर्च के बाद भी भोपाली लोगो कि ज़िंदगी अभी भी ऐसी ही हैं, कोई सहूलितय नहीं। जबकि खर्च हुए 1300 करोड़ मे से 600 करोड़ रु॰ तो हमारे द्वारा केंद्र और राज्य सरकार को दिया गया टैक्स हैं, और बाकी का 750 करोड़ उन कंपनियो ने निवेश किए हैं जिन्हे विज्ञापनो से अच्छी ख़ासी कमाई की आस हैं। बावजूद इसके राजधानी कि तस्वीर मे कोई बदलाव नहीं आया हैं। 5 करोड़ के खर्च के बाद भी कचरे से शहर के रोड और मौहाल्ले के हालत खराब हैं। वही, सालो पहले चालू किए प्रोजेक्ट अभी तक पूरे नहीं हो पाये हैं। शहर मे जगह-जगह अधूरे प्रोजेक्ट पड़े हुये हैं एक साल की जगह 2 साल तक काम जारी हैं। 10 शहरो के मुक़ाबले भोपाल मे 1800 करोड़ के टेंडर पास हुए हैं। जिसमे 700 टेंडर पाईपलाइन के हैं। वही, स्मार्ट रोड का 90 फीसदी और बुलेवर्ड स्ट्रीट का 80 फीसदी काम पूरा होने का दावा स्मार्ट सिटी कंपनी ने किया हैं। देखना यह हैं कि इन बार किया गया दावा क्या रंग लाता हैं।

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com