ब्रेकिंग न्यूज़ सीएम ने महाराष्ट्र के समाजसेवी सागर रेड्डी को दिया प्राध्यापक यशवंत केलकर पुरस्कार                ढाई दिन उपमुख्यमंत्री रहने के बाद अजित पवार ने दिया इस्तीफा                 पुडुचेरी। केंद्र जरूरत के हिसाब से हमें राज्य केंद्र शासित प्रदेश कहता है , ट्रांसजेंडर का दर्जा क्यों नहीं देता : नारायणसामी                राजस्थान। जयपुर के मयंक ने 21 साल की उम्र में जज बनने की उपलब्धि की हासिल।                  
आवारा कुत्तों को लेकर नगर निगम की सर्वे रिपोर्ट पर सख्त हुई संभागायुक्त मांगी डिटेल रिपोर्ट

भोपाल। संभागायुक्त द्वारा नगर निगम अफसरो को कुत्तो के सर्वे कर रिपोर्ट पेश करने को कहा गया। इसके लिए नगर निगम के जोन दफ्तरों के कर्मचारियों और अफसरों को लगाया गया। सोमवार को सर्वे रिपोर्ट निगम अफसरों ने संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव के सामने पेश की। निगम के पशु चिकित्सक एसके श्रीवास्तव ने बताया कि 11 हजार 544 आवारा कुत्ते सर्वे में सामने आए हैं। रिपोर्ट को देखने के बाद संभागायुक्त ने कहा कि जब 11 हजार 544 आवारा कुत्ते हैं तो फिर हर साल 18 हजार आवारा कुत्तों की नसबंदी कैसे हो रही है। यह भी मान लें कि शहर में 80 हजार कुत्ते हैं तो भी 60 हजार का हिसाब किताब पेश क्यों नहीं किया गया, उन्होंने कहा कि नसबंदी के नाम पर इतना खर्च किया जा रहा है, फिर आवारा कुत्तों की संख्या कम क्यों नहीं हो रही है। साथ ही, संभागायुक्त ने कहा मुझे डिटेल रिपोर्ट चाहिए वरना आप लोगों के खिलाफ कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी। पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डीके राय ने बताया कि जून में पशुपालन विभाग ने आवारा कुत्तों का सर्वे कराया था। उन्होंने रिपोर्ट में बताया था कि 85 वार्डों में 9,943 आवारा कुत्ते हैं। इस रिपोर्ट का संभागायुक्त ने नगर निगम के अफसरों को सत्यापन कराने के निर्देश दिए थे। 

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com