ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल मे पेट्रोल हुआ 96 रूपय लीटर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
शिविर के दौरान ऑपरेशन के बाद महिलाओ को दरी पर लिटाया, स्ट्रेचर की कमी के चलते गोद मे उठा कर किया शिफ्ट।

मुंगावली। शिविर मे अपने टारगेट को पूरा करके लिए डॉक्टरो ने दिखाई लापरवाही। मुंगावली में सोमवार को स्वास्थ्य केन्द्र पर नसबंदी शिविर लगाया गया। शिविर में 50 महिलाओं को बुलाया। ऑपरेशन के बाद महिलाओ को बगैर गद्दों के दरी पर किसी को रास्ते में तो किसी को एक्स-रे रूम में ही लिटा दिया। स्ट्रेचर के अभाव में परिजन महिलाओं को गोदी में उठाकर शिफ्ट करते रहे।

 

जबकि महिलाओं को टांके लगे हुए थे। ऐसी स्थिति में बिना स्ट्रेचर के उन्हें ले जाना उनके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकता था। नसबंदी ऑपरेशन के लिए जिम्मेदार डॉक्टरों ने भी इस ओर ध्यान नहीं दिया। गौरतलब है कि मुंगावली स्वास्थ्य केन्द्र में हर सोमवार को 50 महिलाओं की नसबंदी की जाती है।

 

 

 

मुंगावल डॉ. दिनेश त्रिपाठी, मेडिकल ऑफिसर- पहले हमारे यहां 30 ऑपरेशन होते थे। पिछले तीन बार से 50 हो रहे हैं। महिलाओं को लाने वाली कार्यकर्ताओं को एक रजाई गद्दा देने का प्रावधान है, लेकिन वे जल्दी घर जाने के कारण नहीं लेती हैं, क्योंकि उन्हें ही ये सामग्री जमा करना पड़ती है। अगले टर्न पर ऐसी स्थिति न बने, ध्यान देंगे।  

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com