ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। दीपिका उन लोगों के साथ खड़ी हुईं, जो हर सीआरपीएफ जवान की मौत पर जश्न मनाते हैं : स्मृति ईरानी                जयपुर / पुलिस का दावा- इंडियन ऑयल के मैनेजर ने ही पत्नी और 21 महीने के बेटे की हत्या करवाई,                कोलकाता। मैं अकेले ही सीएए और एनआरसी का विरोध करूंगी, पश्चिम बंगाल में इन्हें लागू नहीं होने दूंगी:ममता बेनर्जी                नई दिल्ली। दुष्कर्मी विनय ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की, फांसी पर रोक लगाने की भी मांग की                दिल्ली चुनाव: कांग्रेस बढ़ी तो AAP को टेंशन, घटी तो BJP की वापसी पर लगेगा ग्रहण                  
सुल्तानिया अस्पताल....डॉक्टर्स की लापरवाही ने किया फिर शर्मशार, नवजात शिशु का शव लेने के लिए घंटो इंतजार करने रहे परिजन, जिम्मेदार डॉक्टर्स सेलिब्रशन मे व्यस्त।

भोपाल।(सुलेखा सिंगोरिया) राजधानी भोपाल की सरकारी अस्पताल सुल्तानिया के डॉक्टर्स के द्वारा शर्मशार करने वाला मामले सामने आया हैं। मामला मंगलवार दोपहर का हैं, जब डॉक्टर्स ने जन्मदिन मनाने के चक्कर मे नवजात का शव परिजनो को सौंपने मे ढाई घंटे लगा दिए।

दरअसल, बाग फरहत अफ़्जा निवासी तबरेज खान की 27 वार्षिय पत्नी फराह खान को उनके परिजन सोमवार शाम को डिलेवरी के लिए सुल्तानिया लेकर पहुंचे थे। जहां डॉक्टर्स ने रात 9 बजे सोनोग्राफी कराने को कहा, अस्पताल का सोनोग्राफी सेंटर बंद होने पर परिजनो मे बाहर से 11 बजे रात को सोनोग्राफी करा कर अस्पताल पहुंचे। अगले दिन सुबह 11 बजे फराह को लेबर रूम मे ले जाया गया। जहां डॉक्टर ने परिजनो को बताया कि फराह ने एक मृत बच्चो जन्म दिया हैं। 15-20 मिनट मे बच्चे का शव दे देंगे। इंतजार करते हुए एक घंटा बीत जाने  के बाद भी बच्चे का शव नहीं दिया गया तो फराह कि बहन हबीबा पहुंचे गई तो फिर एक घंटे का कहकर उसे ताल दिया। जब एक घंटे बाद हबीबा शाम 6 बजे अंदर गई तो उसने देखा कि 12 से ज्यादा डॉक्टर्स मिलकर केक काट रहे हैं, सेल्फी लेकर बर्थ दे सेलिब्रिट कर रहे हैं। हबीबा ने कहा कि आप लोग यहाँ पार्टी कर रहे हैं और हम बाहर माँ और बच्चे का इन्तजार कर रहे है। इस पर डॉक्टर्स ने उन्हे बाहर कर गेट बंद कर दिया तब परिजनो ने अस्पताल मे हंगामा किया तब जाकर  कही उन्हे शव सौंपा गया।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com