ब्रेकिंग न्यूज़ नई दिल्ली। दीपिका उन लोगों के साथ खड़ी हुईं, जो हर सीआरपीएफ जवान की मौत पर जश्न मनाते हैं : स्मृति ईरानी                जयपुर / पुलिस का दावा- इंडियन ऑयल के मैनेजर ने ही पत्नी और 21 महीने के बेटे की हत्या करवाई,                कोलकाता। मैं अकेले ही सीएए और एनआरसी का विरोध करूंगी, पश्चिम बंगाल में इन्हें लागू नहीं होने दूंगी:ममता बेनर्जी                नई दिल्ली। दुष्कर्मी विनय ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर की, फांसी पर रोक लगाने की भी मांग की                दिल्ली चुनाव: कांग्रेस बढ़ी तो AAP को टेंशन, घटी तो BJP की वापसी पर लगेगा ग्रहण                  
निगम दल ने मछलियो को जहर देने वाले मिट्टी के गोले किए जब्त।

भोपाल। नगर निगम आयुक्त बी विजय दत्ता को मिली एक गोपनीय शिकायत पर शुक्रवार को प्रभारी मुख्य अभियंता एआर पवार के नेतृत्व छोटे तालाब में मछलियों को जहर देने की आशंका पर हमीदिया कॉलेज के पास से मिट्टी के गोले जब्त किए। दवा मिले यह लड्डू तालाब में डाले जाते हैं।
प्रभारी पवार ने बताया कि इन मिट्टी के गोलों को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टॉक्सिकल रिसर्च लखनऊ भेजा जाएगा। शिकायत मिली थी कि अधिक मछली का शिकार करने के लिए धीमा जहर दिया जा रहा है और यह भी यहां प्रतिबंधित बिग हैड मछली पाली जा रही है। 

वही, मछली पालन के कॉन्ट्रेक्टर राकेश बाथम ने कहा कि छोटे तालाब में सीवेज का पानी आता है, इससे ऑक्सीजन में कमी हो जाती है। फिशरीज डिपार्टमेंट की सलाह पर दवा डालते हैं। जहर देना तो हमारे लिए भी नुकसानदायक है। प्रतिबंधित मछली पालने की शिकायत भी झूठी है। हम यहां सिल्वर कॉर्प, रोहू, कतला व कॉमन कॉर्प मछली पालते हैं। उधर, फिशरीज डिपार्टमेंट के असिस्टेंट डायरेक्टर वीरेंद्र चौहान ने बताया कि वाटर सेनिटाइजर व ऑक्सीजन एनहांसर के उपयोग की सलाह दी जाती है, लेकिन छोटे तालाब में निगम की कार्रवाई की जानकारी नहीं है, इसलिए यह बताना संभव नहीं है कि वहां कौनसी दवा उपयोग हो रहा था।

Advertisment
 
प्रधान संपादक सहायक-संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी राकेश शर्मा डॉ मीनू पांडे
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com