ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल : निगम की वेबसाइट से गायब हैं महापौर पार्षद                रतलाम : पश्चिम एक्स्प्रेस के फ़र्स्ट एसी कोच की स्प्रिंग टूटी |                भोपाल : पहली बार भोपाल में पुलिस परिवारों के लिए भी गरबा आयोजित                भोपाल : कमलनाथ बोले – शिवराज सरकार झूठ का पुलिंदा हैं                मुरादाबाद : नाबालिग से समूहिक दुष्कर्म, सड़क पर निर्वस्त्र छोड़ा |                नई दिल्ली : हिजाब – सुनवाई पूरी कोर्ट नें फैसला सुरक्षित रखा |                नई दिल्ली-- कोमेडियन राजू श्रीवास्तव का लंबी बीमारी के बाद निधन                भोपाल : भोपाल शहर के नए प्रधान आयकर आयुक्त होंगे राजीव वाशर्णेय,अजय अत्री को इंदौर की कमान                भोपाल : केके मिश्रा ने ब्राहामणों को दी गाली ,भाजपा बोली – भारत जोड़ो यात्रा नहीं निकलने देंगे                भोपाल : इज्तिमा 18 से 21 नवंबर तक पहली बार विदेशी जमात शामिल नहीं होगी                नई दिल्ली : ईरान में महिलाएं हिजाब के खिलाफ सड़क पर हैं                मुंबई : केंद्रीय मंत्री राणे का अवैध निर्माण टूटेगा 10 लाख का जुर्माना लगा                गुना : कांग्रेस नेता ने बेटे को नौकरी दिलाने के नाम पर महिला के साथ ज़्यादती की                आगरा : ताजमहल परिसर में विदेशी महिला टुरिस्ट को बंदर ने काटा |                जयपुर : राम मंदिर आंदोलन से जुड़े आचार्य धर्मेन्द्र का निधन |                नई दिल्ली : गुजरात के आईपीएस को सुप्रीम कोर्ट से मिली राहत |                मुख्यमंत्री के निर्देश पर झाबुआ के एसपी अरविंद तिवारी सस्पेंड किए गए |                भोपाल, केक काटने को लेकर हुए विवाद में एसआई पर महिला से झूमाझटकी का आरोप                लखनऊ – भोपाल और लखनऊ गरीबरथ एक्स्प्रेस तीन –तीन दिन निरस्त रहेंगी                गुजरात : ब्रेस्ट कैंसर के खिलाफ जागरूकता के लिए 1000 जैन साध्वियाँ ब्रांड एम्बेसडर बनेंगी                  
माफिया के नाम पर आम लोगो से वसूली कर, निगम और राजस्व असफरो ने की अपनी जेब गरम।

भोपाल। माफिया को खत्म करने वाली कमलनाथ की छेड़ी मुहीम ने भी अब माफिया का रूप ले लिया हैं। जी हाँ, माफिया के खिलाफ अभियान के नाम पर नगर निगम और राजस्व के अफसर अपनी जेब गरम करने पर लग गए हैं। जिसके चलते आम लोगों को भी मामूली नियमो के उल्लंघन और अतिक्रमण के नाम पर नोटिस थमा दिए है। यह संख्या हजारों में है। अगर, इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर को ही मिलाएं तो यह संख्या चार हजार से अधिक बताई गई है।

 

इस मामले की जानकारी जब मुख्यमंत्री कमलनाथ तक पहुंची तो मुख्यमंत्री के साफ कहा था कि जबरन वसूली (एक्सटार्सन), ब्लैकमेलिंग, गुंडागर्दी, दुष्कर्म और गैर कानूनी कार्यों में जो माफिया लगा हुआ है, उसे खत्म करना है। ऐसी जानकारी सामने आई है कि साधारण लोग जिन्होंने नियमों में कुछ गड़बड़ी की है, उन्हें माफिया की तरह माना जा रहा है। नगर निगम और राजस्व विभाग से जुड़े अधिकारियों ने हजारों की संख्या में ऐसे लोगों को नोटिस दे दिए हैं। हैरान करने वाली बात है कि पुलिस अधिकारी सोशल मीडिया पर आम लोगों की माफिया के नाम पर लिस्ट बनाकर उसे डाल रहे हैं। 

 

 

 

मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने सभी संभागों के कमिश्नर को ताकीद दे,

 

सभी अफसरों और कर्मचारियों को साफ कर दिया है कि अब यदि आम व्यक्ति को किसी भी तरह से प्रताड़ित या परेशान करने की जानकारी आती है तो कमिश्नर ऐसे लोगों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करें। साथ ही शासन को बताएं। मोहंती ने मीडिया से बातचीत में बताया कि शासन स्तर पर हर जिले की सूची है कि कहां कितने नोटिस दिए गए हैं। आम लोगों के संबंध में संभागों को निर्देशित कर दिया गया है।

 

सट्टे के नाम पर हो गई करोड़ों की वसूली अफसरो के जेब मे

शासन से जुड़े सूत्रों का कहना है कि सटोरियों पर कार्रवाई के नाम पर इंदौर और भोपाल में बड़ी राशि की वसूली जिम्मेदार अफसरों ने की है। यह करोड़ों में है। यह जानकारी भी राज्य सरकार के स्तर पर पहुंच गई है।

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com