ब्रेकिंग न्यूज़ इंदौर। भू-माफिया बॉबी छाबड़ा इंदौर मे गिरफ्तार।                महाराष्ट्र। हफ्ते मे 5 दिन खुलेंगे सरकारी ऑफिस।                पणजी। 59 साल के अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनर वेंडेल रॉड्रिक्स का निधन, 6 साल पहले पद्मश्री मिला था।                नई दिल्ली। 16 फरवरी को रामलीला मैदान मे केजरीवाल लेंगे शपथ।                बीजिंग। चीन में कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत में 103 लोगों ने जान गंवाई।                  
नसीरुद्दीन शाह के द्वारा जोकर बोलने पर, अनुपम खेर ने उन्हे तीखे शब्दो मे दिया जबाव।

मुंबई/बॉलीवुड। 'द वायर' को दिए अपने इंटरव्यू के दौरान नसीरुद्दीन शाह ने सीएए और एनआरसी का विरोध करते अनुपम खेर पर कड़ा हमला बोलते हुये कहा “अनुपम खेर इस मामले में काफी मुखर रहे हैं, लेकिन मुझे नहीं लगता कि उन्हें गंभीरता से लिया जाना चाहिए। वो एक जोकर हैं। एनएसडी और एफटीआईआई में उनके समकालीन रहे लोग उनके चापलूस स्वभाव के बारे में बता सकते हैं। ये चीज उनके खून में है और वे इसमें कुछ भी नहीं कर सकते। लेकिन, बाकी लोग जो इनका समर्थन कर रहे हैं, उन्हें फैसला करना चाहिए कि वे आखिर किसका सपोर्ट कर रहे हैं।" 

जिस पर बुधवार को अभिनेता अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह को ट्वीट पर वीडियो शेयर कर लिखा

"जनाब नसरूद्दीन शाह साहब मेरे बारे में आपका दिया हुआ इंटरव्यू देखा। आपने मेरी तारीफ में कुछ बातें कहीं कि मैं क्लाउंड हूं। मुझे सीरियसली नहीं लेना चाहिए। मैं साइकोफैंट हूं। ये मेरे खून में है, वगैरह-वगैरह। इस तारीफ के लिए शुक्रिया। पर मैं आपको और आपकी बातों को बिलकुल भी सीरियसली नहीं लेता। हालांकि, मैंने कभी आपकी बुराई नहीं की, कभी आपको भला-बुरा नहीं कहा। अब जरूर कहना चाहूंगा कि आपने अपनी पूरी जिंदगी इतनी कामयाबी मिलने के बावजूद फ्रस्ट्रेशन में गुजारी। अगर आप दिलीप कुमार साहब, अमिताभ बच्चन साहब को, राजेश खन्ना साहब को, शाहरुख खान को, विराट कोहली को क्रिटिसाइज कर सकते हैं तो आई एम श्योर, आई एम इन ग्रेट कम्पनी। और इनमें से किसी ने भी आपकी स्टेटमेंट को सीरियसली नहीं लिया। हम सब जानते हैं कि आप बरसों से जिन पदार्थों का सेवन करते हैं, उनकी वजह से क्या सही है और क्या गलत है, इसका अंतर ही पता नहीं लगता। मेरी बुराई करके अगर आप एक-दो दिन के लिए सुर्खियों में आते हैं तो मैं ये खुशी आपको भेंट करता हूं। भगवान आपको खुश रखे। आपका शुभचिंतक - अनुपम।" इसके बाद उन्होंने आंख मारते हुए कहा, 'और आप जानते हैं मेरे खून में क्या है? मेरे खून में है हिंदुस्तान। इसको समझ जाइए बस। जय हो।" 

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक उप संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी सुलेखा सिंगोरिय डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com