ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल, टेस्ट ऑफ इंडिया रेस्टोरेंट में खाद्यय विभाग का छापा मावे का नमूना दूषित पाया गया                इंदौर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तबियत में सुधार                मुबई ग्लोबल मार्केट में तेजी के कारण बढ सकते हे खाद्द्य तेलों के दाम                भोपाल सिपाही रितेश यादव ने दर्द से परेशां होकर की ख़ुदकुशी                भोपाल संकट समय केन्द्रिये मंत्री से युवक ने आक्सीजन मांगी मंत्री पटेल ने कहा दो खाओगे                भोपाल पुलिस दुआरा मनमर्जी से बैरिगेट्स लगाने को लेकर जनता में गुस्सा                भोपाल दस दिनों में करोना से दस शिक्षकों की मौत,आयुक्त ने जानकारी बुलवाई                भोपाल खाना बनाते समय महिला आग से झुलसी                भोपाल डॉ ने सफाईकर्मी महिला को मारा थप्पड़ कर्मचारी गए हड़ताल पर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                  
भाजपा नेता से पहले पुलिसकर्मी और पटवारी पर भी कलेक्टर निधि निवेदिता ने किया हाथ साफ।

ब्यावरा। कलेक्टर निधि निवेदिता और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा  के द्वारा भाजपा नेता कॉ थप्पड़ मारने का मामला अभी गरमाया हुआ हैं। थप्पड़ मारने वाली राजगढ़ कलेक्टर निधि निवेदिता पर आरोप लगा है कि उन्होंने उसी दिन ड्यूटी पर तैनात 61 वर्षीय एएसआई नरेश शर्मा और एक पटवारी को भी थप्पड़ मारा था।

दरअसल, एएसआई शर्मा की महारैली में ड्यूटी थी। बताया जा रहा है कि वे ब्यावरा में वैष्णो देवी मंदिर के सामने गाड़ी में बैठकर कैमरे से रैली की रिकॉर्डिंग कर रहे थे। दोपहर करीब 1:30 बजे कलेक्टर यहां पहुंची और उन्होंने शर्मा को गाड़ी से नीचे उतारकर थप्पड़ मारा। इसी तरह रैली शुरू होने के पहले मौके पर पटवारी जितेंद्र ड्यूटी कर रहे थे, तब वहां से निकलते वक्त कलेक्टर ने उन्हें फटकार लगाई और थप्पड़ मारा था। एएसआई ने इसकी शिकायत अपने आला अफसरों से की थी। राजगढ़ पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा का कहना है कि मुझे इससे संबंधित आवेदन मिला है। मैं संबंधित अधिकारी से चर्चा करूंगा। 

जितेंद्र को थप्पड़ मारने का वीडियो बीते दो दिन से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

कलेक्टर कि इन हरकतों को देखते हुये अब बड़ा यह उठता हैं कि कलेक्टर निधि निवेदिता ने भाजपा कार्यकर्ताओं को थप्पड़ मारने पर तो कलेक्टर निधि ने सफाई देते कहा था कि माहौल बिगाड़ने और महिला अफसर से तदतमीजी करने के चलते थप्पड़ मारा था, लेकिन पुलिसकर्मी और पटवारी भी क्या माहौल बिगाड़ रहे थे और क्या कलेक्टर को अपने अधीनस्थ को भी थप्पड़ मारने का अधिकार है। 

 

निधि निवेदिता, कलेक्टर- हम भीड़ को नियंत्रित कर रहे थे, तभी पूर्व एमएलए भीड़ को उकसाने लगे। इसलिए उन्हें पकड़कर खींचा। लेकिन, वे लड़ने लगे और फिर उकसाने लगे। वे पूर्व में टाडा अभियुक्त रहे हैं, उन पर 15 केस हैं। प्रदर्शन में ड्यूटी पर तैनात मजिस्ट्रेट पर भी हमला किया गया। ऐसी परिस्थिति में भीड़ उग्र और अनियंत्रित ना हो, इसके लिए उपाय किए गए।   

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com