ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल, टेस्ट ऑफ इंडिया रेस्टोरेंट में खाद्यय विभाग का छापा मावे का नमूना दूषित पाया गया                इंदौर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तबियत में सुधार                मुबई ग्लोबल मार्केट में तेजी के कारण बढ सकते हे खाद्द्य तेलों के दाम                भोपाल सिपाही रितेश यादव ने दर्द से परेशां होकर की ख़ुदकुशी                भोपाल संकट समय केन्द्रिये मंत्री से युवक ने आक्सीजन मांगी मंत्री पटेल ने कहा दो खाओगे                भोपाल पुलिस दुआरा मनमर्जी से बैरिगेट्स लगाने को लेकर जनता में गुस्सा                भोपाल दस दिनों में करोना से दस शिक्षकों की मौत,आयुक्त ने जानकारी बुलवाई                भोपाल खाना बनाते समय महिला आग से झुलसी                भोपाल डॉ ने सफाईकर्मी महिला को मारा थप्पड़ कर्मचारी गए हड़ताल पर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                  
6 करोड़ की बिल्डिंग मे यात्रियो के लिए कोई सुविधा नहीं, सफर करने वाले लोग परेशान।

भोपाल। राजधानी भोपाल के रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 6 के सामने बनी 6 करोड़ की नई बिल्डिंग मे सुविधाए का दूर दूर का पता नहीं हैं। 6 करोड़ की लागत की लागत से बनी बिल्डिंग मे 4 महोने बाद भी यहां यात्री सुविधाओं का अभाव है। इस बिल्डिंग में पैसेंजर लाउंज, फूड कोर्ट और बजट होटल जैसी शुरू होनी थी, ताकि सफर के दौरान यात्रियों को राहत मिल सके। जबकि रेलवे और आईआरसीटीसी के बीच करीब चार साल पहले अनुबंध मे यह तय हुआ था कि स्टेशन बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर वीआईपी लाउंज, फर्स्ट फ्लोर पर फूड कोर्ट और सेकंड फ्लोर पर बजट होटल बनेगा। वही, आईआरसीटीसी के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें जितनी जगह की जरूरत थी रेलवे  उससे ज्यादा जगह देना चाहता है। इसलिए मामला अटका हुआ है। उधर, रेल अधिकारियों का कहना है कि जल्द मामला सुलझने जा रहा है। रेल सूत्रों के अनुसार आईआरसीटीसी द्वारा इस बिल्डिंग का उपयोग इसलिए नहीं किया जा रहा है क्योकि प्लेटफॉर्म नंबर 6 पर सिर्फ 6 ट्रेनें रुकती हैं। अफसरों का मानना है कि प्लेटफॉर्म नंबर 1 की ओर ज्यादा ट्रेनें रुकने से वहां यात्रियों की आवाजाही अधिक होती है, इसलिए उन्हें ज्यादा फायदा होता है। प्लेटफॉर्म नंबर एक की ओर फूड प्लाजा है। जबकि आंकड़ों के मुताबिक प्लेटफॉर्म नंबर 6 की ओर से ही सबसे अधिक आवाजाही होती है।

 

 भोपाल स्टेशन के डायरेक्टर केएन द्विवेदी बोले- रेलवे चाहता है कि यात्रियों को प्लेटफॉर्म नंबर-6 की ओर जल्द से जल्द वीआईपी लाउंज, फूड कोर्ट जैसी सुविधाएं मिलें। इसके लिए आईआरसीटीसी के साथ पत्र व्यवहार व बातचीत का सिलसिला जारी है। जल्द समस्याएं दूर हो जाएंगी। 

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com