ब्रेकिंग न्यूज़ भोपाल, टेस्ट ऑफ इंडिया रेस्टोरेंट में खाद्यय विभाग का छापा मावे का नमूना दूषित पाया गया                इंदौर पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की तबियत में सुधार                मुबई ग्लोबल मार्केट में तेजी के कारण बढ सकते हे खाद्द्य तेलों के दाम                भोपाल सिपाही रितेश यादव ने दर्द से परेशां होकर की ख़ुदकुशी                भोपाल संकट समय केन्द्रिये मंत्री से युवक ने आक्सीजन मांगी मंत्री पटेल ने कहा दो खाओगे                भोपाल पुलिस दुआरा मनमर्जी से बैरिगेट्स लगाने को लेकर जनता में गुस्सा                भोपाल दस दिनों में करोना से दस शिक्षकों की मौत,आयुक्त ने जानकारी बुलवाई                भोपाल खाना बनाते समय महिला आग से झुलसी                भोपाल डॉ ने सफाईकर्मी महिला को मारा थप्पड़ कर्मचारी गए हड़ताल पर                बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                  
13 ग्राम मिथाइल एनेडियो ऑक्सीमीथेंफेट एमीन ड्रग्स के साथ रेलवे स्टेशन पर मिली महिला, क्राइम ब्रांच ने धरदबोचा।

भोपाल। भोपाल स्टेशन पर प्रतिबंधित 13 ग्राम मिथाइल एनेडियो ऑक्सीमीथेंफेट एमीन ड्रग्स के साथ मुंबई की एक महिला तस्करी करते लगी क्राइम ब्रांच के हाथ।

 

एएसपी क्राइम निश्चल झारिया के मुताबिक, खबरी के द्वारा हाथ आई सूचना के बाद महिला को डोंगरी, मुंबई निवासी 45 वर्षीय रेहाना खान की तलाशी लेने पर 13 ग्राम एमडीएमए के साथ हबीबगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक से पकड़ा गया। ये मादक पदार्थ लेकर वह भोपाल में सप्लाई करने आई थी। इससे पहले उसका पति सलीम खान मादक पदार्थ का धंधा संचालित करता था। उसकी मौत के बाद ये काम रेहाना ने संभाल लिया। टीम ने रेहाना के कब्जे से 5 लाख रुपए कीमत की 13 ग्राम एमडीएमए जब्त की है। पूछताछ में सामने आया कि एमडीएमए की सप्लाई खासकर युवाओं और पार्टी गर्ल्स के बीच होती है। बैंक खातों में ऑनलाइन पैसा जमा करने के बाद ही महिला सप्लाई देने भोपाल आती थी। उसका ड्रगस का कारोबार गुजरात, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, दिल्ली और राजस्थान तक फैला हुआ है। शनिवार को उसे अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा। पुलिस का अंदाजा है कि अब और भी कई बड़े तस्कर हाथ लग सकते हैं। रेहाना कुछ दिन के भीतर ही मोबाइल फोन, नंबर और ठिकाना बदल देती थी। उसके पास गलत-नाम पते से कई बैंक खाते हैं। ऑनलाइन पेमेंट लेने के बाद ही वह एमडीएमए की डिलीवरी के लिए तैयार होती थी। पता चला है कि विदेशी तस्करों से जुड़े लोग उससे जुड़े हैं।

 

 

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com