ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
भोपाल स्टेशन प्लेटफॉर्म नंबर 2-3 जाने वाला रैंप का हिस्सा गिराने से 9 लोग घायल।

 भोपाल। राजधानी भोपाल में पुराने रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को फुटओवर ब्रिज (एफओबी) के रैंप का एक हिस्सा ढह गया। हादसे में 9 लोग घायल हो गए। एक को हमीदिया अस्पताल और 7 घायलों को चिरायु हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं, एक यात्री को प्राथमिक उपचार के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। रेल एडीजी अरुणा मोहन राव ने बताया कि जिस रैंप का हिस्सा गिरा है वह 1992 में बना था।

जानकारी के मुताबिक, हादसा 2-3 नंबर प्लेटफॉर्म पर हुआ। उस वक्त तिरुपति से चलकर हजरत निजामुद्दीन जाने वाले संपर्क क्रांति एक्सप्रेस बुधवार सुबह 9 बजकर 4 मिनट पर भोपाल जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर 2 पर रुकी थी। भोपाल के आरिफ नगर, जेल रोड और अहीर मोहल्ला में रहने वाले लोग भी इस ट्रेन से उतरे थे। यह लोग आपस में रिश्तेदार हैं जो हैदराबाद में एक कार्यक्रम से भाग लेकर हंसी-खुशी लौटे थे। इनमें से 5 लोग भोपाल स्टेशन पर हुए फुट ओवरब्रिज हादसे का शिकार हुए।

अपनी आंखों के आंसू पोछते हुए आसिमा बताती हैं- 'हम 28 लोग हैदराबाद से लौटे थे। हमारा रिजर्वेशनट्रेन के एस 1, एस 3 और एस 6 बोगी में था। ट्रेन से उतरने के बाद हम सब एक जगह इकट्‌ठा हुए और फुट ओवरब्रिज से चढ़कर जाने लगे। मेरी बहन मरियम मुझसे कुछ कदम आगे चल रही थी। अचानक तेज आवाज आई। इससे पहले हम कुछ समझ पाते मरियम पुल के रैंप से नीचे गिर गई।'

फुटओवर ब्रिज के नीचे कुछ स्टॉल भी लगे हुए थे। हादसे के बाद रेलवे प्रशासन ने आम यात्रियों के लिए एफओबी को बंद कर दिया। हादसे के चलते प्लेटफार्म नंबर 2-3 पर आने वाली 18 ट्रेनों को दूसरे प्लेटफार्म पर भेजा गया।

 

ये हादसा नहीं होना चाहिए था। ये दुखद है। एफओबी का एक रैंप गिरा है। घायलों का इलाज कराया जा रहा है। हादसे की एसएजी लेवल की जांच के आदेश दिए गए हैं। 

 

Advertisment
 
प्रधान संपादक उप संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी सुलेखा सिंगोरिय डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com