ब्रेकिंग न्यूज़ बीजेपी में सिंधिया की एंट्री से नाराजगी, पार्टी के बड़े नेता प्रभात झा हुए खफा                निर्भया का दोषी पवन पहुंचा कोर्ट, कहा- मुझे पीटने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो केस                महाराष्ट्र। बुलढाणा के सरकारी स्कूल की छात्रा बनी एक दिन कि डीएम।                  
बैरागढ़ सिविल हॉस्पिटल......डिस्चार्ज के पहले लगाए इंजेक्शन के कारण 50 मिनट के अंदर नवजात की मौत

भोपाल। डिस्चार्ज करने के 50 मिनट पहले लगाए इंजेक्शन के कारण नवजात शिशु की अस्पताल मे हुई मौत। माँ की गोद मे तोड़ा तीन दिन के मासूम बच्चे ने अपना दम।  

घटना बैरागढ़ के सिविल अस्पताल की हैं, जहां छुट्टी से पहले नवजात को इंजेक्शन लगाया और उसके 50 मिनट बाद ही बच्चे की मौत हो गई। ईदगाह हिल्स स्थित वाजपेयी नगर निवासी किशोर राय की पत्नी प्रियंका की डिलेवरी 2 मार्च की सुबह 7:24 बजे बैरागढ के सिविल अस्पताल में हुई थी। उसने बेटे को जन्म दिया था। परिजनों ने बताया नॉर्मल डिलेवरी के बाद से बच्चा पूरी तरह स्वस्थ था। बुधवार को छुट्टी होना थी। लेकिन छुट्टी से ठीक पहले डॉक्टर्स ने बच्चे को कमजोर बताकर उसकी जांच के नाम पर ब्लड सैंपल लिया था। इसके बाद उसे एक इंजेक्शन लगाया। इसके बाद नवजात का शरीर सुन होने लगा औ शरीर पीला पड़ गया। बच्चे क हालत देखा परिजनो ने डॉक्टर को दिखाया को डॉक्टर ने बच्चा स्वस्थ है कह कर चलता किया। वही नर्स ने इंजेक्शन के हवाला देकर बच्चो को सोने देने की सलाह दी। और महज 50 मिनट के बाद ही बच्चे की मौत हो गई। इसी को लेकर अस्पताल परिसर में परिजनों ने हंगामा मचाया और अधीक्षक का घेराव करते परिजन और स्थानीय नेता। अधीक्षक अरविंद टंडन ने बताया कि स्टाफ नर्स को शोकास नोटिस देने के साथ ही जांच के लिए कमेटी बैठाएंगे। वही, शिशु रोग विशेषज्ञ (ड्यूटी डॉक्टर) डॉ. आनंद सुचारी ने बताया किसेफोटेक्सिम एंटीबायोटिक इंजेक्शन लगाया गया था, जो कि बच्चे को जन्म के बाद से ही लगाया जा रहा था।



Advertisment
 
प्रधान संपादक उप संपादक समाचार संपादक
सैफु द्घीन सैफी सुलेखा सिंगोरिय डॉ मीनू पाण्ड्य
Copyright © 2016-17 LOKJUNG.com              Service and private policy              Email : lokjung.saify@gmail.com